content-cover-image

Fake News Buster: पुलिसकर्मी से हाथापाई की तस्वीर लॉकडाउन में हो रही वायरल !

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Fake News Buster: पुलिसकर्मी से हाथापाई की तस्वीर लॉकडाउन में हो रही वायरल !

कोरोना वायरस के कारण देश में 21 दिवसीय लॉकडाउन चल रहा है. इस बीच सोशल मीडिया पर तमाम ऐसे वीडियो और फोटो सामने आए हैं, जहां पुलिसकर्मी लोगों को बाहर निकलने से रोकने के क्रम में उन्हें पीटते हुए दिखाई दे रहे हैं. इसी तरह एक तस्वीर फेसबुक पर वायरल हो रही हैं, जिसमें एक शख्स एक पुलिसकर्मी को सड़क पर पटकते हुए दिखाई दे रहा है. इस तस्वीर के साथ दावा किया जा रहा है कि यह लॉकडाउन के दौरान लोगों पर पुलिस के अत्याचार का नतीजा है. सोशल मीडिया यूजर्स पुलिस यह भी अपील कर रहे हैं कि उन्हें नागरिकों की मजबूरी को समझना चाहिए. पड़ताल में पाया कि यह वायरल पोस्ट भ्रामक है. यह तस्वीर तीन साल पुरानी है और इसका कोरोना वायरस के चलते हुए लॉकडाउन से कोई लेना देना नहीं है. कई फेसबुक यूजर्स जैसे "Devendra Shukla Amethi" ने यह तस्वीर शेयर करते हुए लिखा है, "लाॅकडाउन में पुलिस प्रशासन द्वारा की जा रही ज्यादती के परिणाम सामने आ रहे हैं. अतः पुलिस प्रशासन से निवेदन है कि जनता की मजबूरी को भी समझें." स्टोरी लिखे जाने तक यह पोस्ट 500 से ज्यादा बार शेयर की जा चुकी है. रिवर्स सर्च की मदद से हमने पाया कि ये वायरल तस्वीरें जून, 2017 में "Daily Mail" के एक न्यूज आर्टिकल में इस्तेमाल हुई हैं. यह रिपोर्ट कहती है कि ये तस्वीरें तब ली गई थीं जब उत्तर प्रदेश में कानपुर के एक अस्पताल में एक किशोरी से रेप के बाद गुस्साई भीड़ ने हंगामा किया था. भीड़ ने उस दौरान पुलिस अधिकारियों पर हमला भी किया था. "The Sun" की एक और रिपोर्ट मिली जिसमें ये तस्वीरें इसी सूचना के साथ प्रकाशित हुई हैं. इस तरह पड़ताल में साफ हुआ कि ये वायरल तस्वीरें तीन साल पुरानी हैं और इन्हें कोरोना वायरस के चलते हुए लॉकडाउन से जोड़कर शेयर किया जा रहा है.

Show more
content-cover-image
Fake News Buster: पुलिसकर्मी से हाथापाई की तस्वीर लॉकडाउन में हो रही वायरल !मुख्य खबरें