content-cover-image

आज की मुस्कान: किसान ने बाँट दी अपनी फसल, ताकि गरीबों के घर जल सके चूल्हा!

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

आज की मुस्कान: किसान ने बाँट दी अपनी फसल, ताकि गरीबों के घर जल सके चूल्हा!

स्वागत है आपका मुख्य खबर की ख़ास पेशकश में, और कोरोना के खिलाफ जंग में एक और पॉज़ीटिव स्टोरी आई है. “साँई इतना दीजिए, जामे कुटुम समाय। मैं भी भूखा ना रहूँ, साधु न भूखा जाय।।” नासिक के एक किसान ने कुछ ऐसा काम किया कि ये दोहा हमे याद आ गया। यह किसान है 41 वर्षीय दत्ता राम राव पाटिल, जिन्होंने कुछ दिन पहले अपने गाँव के पास रहने वाली गरीब महिलाओं को अनाज बांटा है। उनकी तीन एकड़ ज़मीन है, जिस पर वह खेती करते हैं। इस बार भी उन्होंने गेहूं की अच्छी फसल अपने खेतों से ली थी और कुछ दिन पहले कटाई भी हो गई थी। इंतज़ार था तो बस इसे मंडी पहुंचाने का। लेकिन किस्मत को शायद कुछ और ही मंजूर था। उनके गांव के पास की कच्ची बस्तियों में रहने वालो को कोरोना और lockdown के चलते कहीं काम नहीं मिल रहा था और घर में खाने को कुछ ना था. दत्ता राम और उनकी पत्नी ने इन महिलाओं को अनाज बांटना शुरू कर दिया। उन्होंने तय किया कि वह अपनी एक एकड़ ज़मीन का अनाज बांटेंगे। उन्होंने किसी को 5 किलो तो किसी को 7 किलो अनाज दिया। वह बताते हैं कि जिनके घर की स्थिति बहुत ही खराब है, उन महिलाओं को उन्होंने ज्यादा अनाज दिया। दत्ता राम की इस कोशिश ने पूरे देशवासियों का दिल जीत लिया है। किसी ने सही ही कहा है कि इंसान पैसे से नहीं बल्कि दिल से अमीर या गरीब होता है। उनके अपने घर की आर्थिक स्थिति बहुत अच्छी नहीं है लेकिन फिर भी उन्होंने अपने हित से बढ़कर सोचा। है ना सराहनीय ? ऐसी ही कुछ दिल खुश करने वाली और चेहरे पर मुस्कान ले आने वाली कहानियों,किस्सों और ख़बरों के लिए हमसे जुड़े हर सुबह ठीक 6 बजे. अगर दत्ता राम राव पाटिल की इस नेकदिल कदम ने आपके मन को भी छुआ है तो आप भी अपने आस-पास किसी ज़रूरतमंद की मदद करें। उनसे संपर्क करने के लिए आप 9765213560 पर कॉल कर सकते हैं!

Show more
content-cover-image
आज की मुस्कान: किसान ने बाँट दी अपनी फसल, ताकि गरीबों के घर जल सके चूल्हा!मुख्य खबरें