content-cover-image

Corona: Plasma therapy का क्लीनिकल ट्रायल केरल से होगा शुरू

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Corona: Plasma therapy का क्लीनिकल ट्रायल केरल से होगा शुरू

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के मुताबिक कोरोना के गंभीर मरीजों के इलाज के लिए ‘कॉन्वालेसेंट प्लाज्मा थेरैपी’ के क्लीनिकल ट्रायल के लिए प्रोटोकॉल जल्द तैयार हो जाएगा। इसका काम अपने अंतिम चरण में है। इस थेरेपी में कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके मरीजों के खून से एंटीबॉडी निकालकर कोविड-19 के गंभीर मरीजों का इलाज किया जाएगा।आईसीएमआर के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक परीक्षण के आधार पर गंभीर रूप से बीमार लोगों का इलाज करने के लिए यह थेरैपी शुरू करने वाला केरल देश का पहला राज्य बनने वाला है। आईसीएमआर ने राज्य सरकार को अपनी तरह की पहली परियोजना के लिए मंजूरी दे दी है, जिसे प्रतिष्ठित श्री चित्रा तिरुनल इंस्टीट्यूट फॉर मेडिकल साइंसेज एंड टेक्नोलॉजी ने शुरू किया है।आईसीएमआर अधिकारी ने इससे पहले बृहस्पतिवार को कहा था कि उन्हें थेरैपी का उपयोग करके किसी भी क्लीनिकल ट्रायल को शुरू करने से पहले ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) से अनुमोदन की आवश्यकता होगी। वर्तमान में भारत के रोगियों के लिए यह थेरैपी न तो उपयोग की गई है और न ही इसकी तैयारी है। हम इसके लिए प्रोटोकॉल बनाने के अंतिम चरण में हैं।

Show more
content-cover-image
Corona: Plasma therapy का क्लीनिकल ट्रायल केरल से होगा शुरूमुख्य खबरें