content-cover-image

बांद्रा बना दूसरा आनंद विहार, सैकड़ों की संख्या में सड़क पर मजदूर

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

बांद्रा बना दूसरा आनंद विहार, सैकड़ों की संख्या में सड़क पर मजदूर

देशभर में लॉकडाउन के बीच, मुंबई के बांद्रा में सैकड़ों की संख्या में प्रवासी मजदूर सड़कों पर उतर आए. मंगलवार शाम 4 बजे करीब मजदूरों की भीड़ बांद्रा में इकट्ठा हो गई. मजदूरों की मांग थी कि उन्हें वापस उनके घर भेज दिया जाए. मुंबई पुलिस का कहना है कि भीड़ को हटा दिया गया है. पुलिस जांच कर रही है कि लॉकडाउन के बीच इतनी संख्या में मजदूर बांद्रा कैसे पहुंचे. प्रधानमंत्री मोदी ने 14 अप्रैल को संबोधन में राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन को 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया है. महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा है कि हालात अब कंट्रोल में हैं. देशमुख ने कहा कि राज्य सरकार उनके रहने और खाने का इंतजाम करेगा. बांद्रा में इकट्ठा हुई भीड़ को लेकर बांद्रा पुलिस स्टेशन में अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. आईपीसी की धारा 143, 147, 149, 186 और एपिडेमिक एक्ट के सेक्शन 3 के तहत, 800-1000 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गय है. वहीं, इस मामले पर महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और सीएम उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे ने राजनीति का मौका नहीं गवाया और कहा है कि ब्रांदा स्टेशन पर मजदूरों का इकट्ठा होकर घर जाने की मांग करना केंद्र सरकार की विफलता है। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार व्यवस्था करने में सक्षम नहीं है। देश में सबसे ज्यादा मामले अब तक महाराष्ट्र में ही आए हैं. प्रदेश में अब तक 2,337 मामले आ चुके हैं जबकि 160 लोगों की मौत हो चुकी है. इनमें से लगभग डेढ़ हजार मामले अकेले मुंबई में आए हैं, जबकि शहर में 100 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है.

Show more
content-cover-image
बांद्रा बना दूसरा आनंद विहार, सैकड़ों की संख्या में सड़क पर मजदूरमुख्य खबरें