content-cover-image

आज की मुस्कान: कोरोना संकट के बीच इंसानियत की जीत

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

आज की मुस्कान: कोरोना संकट के बीच इंसानियत की जीत

सुप्रभात ! स्वागत है आपका मुख्य ख़बरों की हमारी ख़ास पेशकश में. देश में कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच मुम्बई में बांद्रा के गरीब नगर के लोगों ने बड़ा दिल दिखाया. मुस्लिम बहुल बस्ती में हिन्दू बुजुर्ग की मौत होने के बाद पड़ोसी मुस्लिमों ने पूरे हिंदू रीति रिवाज से अंतिम संस्कार करवाया. मुस्लिमों ने ही अपने हाथों से नहलाया, सामान लाकर अर्थी बनाई और कंधे देकर श्मशान भूमि ले जाकर पंचतत्व में विलीन भी किया. ऐसा नहीं था कि उस बुजुर्ग के परिवार का कोई नहीं था. बुजुर्ग का एक बेटा है पर उसे अपने रीति रिवाजों की जानकारी नहीं थी और दूसरे भाई-बहन लॉकडाउन में मुबंई से बाहर फंसे हैं, जहाँ से वो आ नही सकते थे. मानवता की ये मिसाल बांद्रा स्टेशन से लगे गरीब नगर झोपड़ पट्टी में दिखी है. हुआ ये कि 3 अप्रैल को गरीब नगर में रहने वाले 68 साल के प्रेमचंद की मौत हो गई. जिस बेटे मोहन के साथ वो रहते थे. उसे अपने रीति रिवाज की जानकारी नहीं थी और दूसरे भाई नाला सोपारा में रहते हैं तो वो आ नहीं सकते थे. मोहन ने बताया कि मैं बचपन से ही गरीब नगर बस्ती में रहता हूं, मुझे ज्यादा जानकारी नहीं थी और लॉकडाउन की वजह से अपने लोगों की मदद भी नामुमकिन थी. तब आसपड़ोस के मुस्लिम परिवारों ने मिलकर अंतिम संस्कार में मदद की. कोरोना के प्रकोप से बचने के लिए सामाजिक दूरी बनाए रखने के इस दौरे में गरीब नगर के मुसलमानों ने सामाजिक एकता का अनोखा उदाहरण पेश किया है. ऐसी ही प्रेरणादायक, खूबसूरत कहानियों, किस्सों और ख़बरों के लिए सुनें मुख्य खबरें रोज़ाना ठीक सुबह 6 बजे, सिर्फ़ ख़बरी पर. धन्यवाद।

Show more
content-cover-image
आज की मुस्कान: कोरोना संकट के बीच इंसानियत की जीतमुख्य खबरें