content-cover-image

Bihar: कोरोना को रोकने के लिए पोलियो मॉडल, घर-घर होगी स्क्रीनिंग

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Bihar: कोरोना को रोकने के लिए पोलियो मॉडल, घर-घर होगी स्क्रीनिंग

बिहार में कोरोना को रोकने और इसके मरीजों की खोज के लिए सरकार एक्टिव मोड में है. बिहार सरकार ने फैसला किया है कि पल्स पोलियो अभियान की तरह ही कोरोना से प्रभावित जिलों में भी घर-घर जाकर लोगों की स्क्रीनिंग की जाएगी. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोरोना को देखते हुए समीक्षा बैठक की, जिसमें उन्होंने निर्देश दिया कि जहां कोरोना के मरीज पाए गए हैं, उस इलाके को एपीसेंटर मानते हुए उसके तीन किलोमीटर के रेडियस में डोर टू डोर स्क्रीनिंग कराएं. बिहार में सिवान, बेगूसराय, नालंदा और नवादा में सबसे ज्यादा कोरोना के मरीज आए हैं. इसी को देखते हुए 16 अप्रैल से घर-घर जाकर यह पता लगाया जाएगा कि एक मार्च से 23 मार्च के बीच उनके घर में बाहर से कोई आया या नहीं. बिहार के हेल्थ डिपार्टमेंट के पर्सनल सेक्रेटरी संजय कुमार ने बताया कि दो-दो लोगों की टीम बनाकर जांच कराई जाएगी. उसके ऊपर एक सुपरवाइजर होगा, जो स्क्रीनिंग किए गए लोगों की लिस्ट बना कर सम्बंधित परखंड में जमा करेंगे जहां इसकी लिस्ट तैयार की जाएगी. जिनमें कोरोना के लक्षण पाए जाएंगे, उन्हें प्रखंड स्तर पर बने क्वारंटीन सेंटर में रखा जाएगा. राज्य में अभी तक कुल 7,781 टेस्ट किए गए हैं, जिसमें कुल 66 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं.

Show more
content-cover-image
Bihar: कोरोना को रोकने के लिए पोलियो मॉडल, घर-घर होगी स्क्रीनिंगमुख्य खबरें