content-cover-image

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताई रणनीति, तीन जोन में बांटा जाएगा देश

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताई रणनीति, तीन जोन में बांटा जाएगा देश

केंद्र सरकार ने बुधवार को कहा कि देशभर में कोरोना के मामलों की गंभीरता के मुताबिक देशभर के जिलों को हॉटस्पॉट, गैर हॉटस्पॉट और ग्रीन जोन जैसी तीन श्रेणियों में बांटा जाएगा। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने यह जानकारी देते कहा कि हॉटस्पॉट वे जिले हैं जहां ज्यादा मामले आ रहे हैं या बीमारी बढ़ने की दर ज्यादा है। जहां इक्का-दुक्का मामले आए हैं, उन्हें गैर हॉटस्पॉट और जहां अब तक एक भी केस नहीं आया है, उन्हें ग्रीन जोन की श्रेणी में रखा जा रहा है। बता दें कि मंत्रालय ने इस संबंध में राज्यों के मुख्य सचिवों को एक पत्र भी लिखा गया है। पत्र में कहा है कि देशभर में कोरोना वायरस के 207 जिले रेड हॉटस्पॉट के तौर पर चिन्हित किए गए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को 28 दिन के अंदर रेड अलर्ट वाले जिलों को ग्रीन अलर्ट में बदलने के निर्देश भी दिए हैं। साथ ही इस मामले में केंद्र ने कड़ाई से नियमों का पालन करने के लिए कहा है। बता दें कि मध्यप्रदेश के इंदौर, भोपाल, उज्जैन, खरगोन और होशंगाबाद जिले रेड हॉटस्पॉट जोन में शामिल हैं। लव अग्रवाल ने कहा, जो जिले अब तक कोरोना वायरस से अछूते हैं, उन जिलों को संक्रमण से दूर रखने की कोशिश होती रहे। संयुक्त सचिव ने कहा कि 20 अप्रैल तक देश के सभी जिलों में कोरोना संक्रमण को रोकने के उपायों का सख्ती से पालन और आकलन सुनिश्चित किया जाएगा। अग्रवाल ने कहा कि इन जिलों के सर्वाधिक संक्रमण प्रभावित इलाकों में मरीजों की शीघ्र पहचान करने के लिए घर घर जाकर सर्वे किया जाएगा। इसके तहत जिले के स्वास्थ्य और राजस्व विभाग के अधिकारी घर घर जाकर खांसी, बुखार और सांस की तकलीफ वाले मरीजों की पहचान कर यह सुनिश्चित करेंगे कि इनमें कोरोना का संक्रमण तो नहीं है।

Show more
content-cover-image
स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताई रणनीति, तीन जोन में बांटा जाएगा देश मुख्य खबरें