content-cover-image

Top 5 News 16th April'20: सोने से पहले जाने दिन भर की हलचल

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Top 5 News 16th April'20: सोने से पहले जाने दिन भर की हलचल

Top 5 News 16th April'20: सोने से पहले जाने दिन भर की हलचल #केंद्र सरकार ने बुधवार को कहा कि देशभर में कोरोना के मामलों की गंभीरता के मुताबिक देशभर के जिलों को हॉटस्पॉट, गैर हॉटस्पॉट और ग्रीन जोन जैसी तीन श्रेणियों में बांटा जाएगा। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने यह जानकारी देते कहा कि हॉटस्पॉट वे जिले हैं जहां ज्यादा मामले आ रहे हैं या बीमारी बढ़ने की दर ज्यादा है। जहां इक्का-दुक्का मामले आए हैं, उन्हें गैर हॉटस्पॉट और जहां अब तक एक भी केस नहीं आया है, उन्हें ग्रीन जोन की श्रेणी में रखा जा रहा है। जिलों के सर्वाधिक संक्रमण प्रभावित इलाकों में मरीजों की शीघ्र पहचान करने के लिए घर घर जाकर सर्वे किया जाएगा। इसके तहत जिले के स्वास्थ्य और राजस्व विभाग के अधिकारी घर घर जाकर खांसी, बुखार और सांस की तकलीफ वाले मरीजों की पहचान कर यह सुनिश्चित करेंगे कि इनमें कोरोना का संक्रमण तो नहीं है। #भारत में बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों को लेकर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने गुरुवार को संवाददाता सम्मेलन करते हुए बताया कि देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 941 नए मामले सामने आए हैं और इस वायरस से 37 लोगों की मौत हुई हैं। ये संख्या शाम चार बजे तक की है. स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि देश के 325 जिले ऐसे हैं, जहां कोरोना वायरस का एक भी मामला सामने नहीं आया है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य मंत्री और राज्य मंत्री (स्वास्थ्य) ने कल एक वीडियो सम्मेलन आयोजित किया, जिसमें स्वास्थ्य अधिकारी और विश्व स्वास्थ्य संगठन के क्षेत्र अधिकारी शामिल थे। #कोविड-19 महामारी की चपेट में पूरी दुनिया है. दुनिया के ज्यादातर देशों में कोरोना वायरस ने तबाही मचाई है. इस खतरनाक वायरस की रोकथाम के लिए अब तक किसी भी प्रभावी वैक्सीन की खोज नहीं हो सकी है, इसी बीच चीन के विशेषज्ञों का दावा है कि नवंबर महीने में एक बार फिर कोरोना वायरस दस्तक दे सकता है. चीन और अन्य देश कोरोना वायरस के खतरनाक संक्रमण से दूसरी बार भी जूझ सकते हैं. कोविड-19 महामारी के खिलाफ काम कर रही शंघाई की क्लीनिकल टीम का नेतृत्व कर रहे वैज्ञानिक झांग वेनहॉन्ग का कहना है कि देशों में तबाही मचाने वाले इस वायरस पर कड़ी नजर रखनी होगी. जहां पूरी दुनिया इस खतरनाक वायरस से मुकाबला करने की कोशिश कर रही है, वहीं यह वायरस नवंबर में फिर उभर सकता है. इसकी शुरुआत ठंड की शुरुआत के साथ एक बार फिर हो सकती है. #भारत में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बीते बुधवार को 10,000 के पार चली गई. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की डेली सिचुएशन रिपोर्ट के मुताबिक, 15 अप्रैल तक 10,000 से अधिक कन्फर्म केसेज वाले 23 देश थे और भारत इनमें 19वें स्थान पर था. आंकड़ों से यह भी पता चलता है कि कुल 1.97 मिलियन (19,70,000) कोरोना वायरस के मामलों में 76 प्रतिशत से अधिक केवल नौ देशों में दर्ज किए गए– अमेरिका (30 फीसदी), स्पेन (8 फीसदी), इटली (8 फीसदी), जर्मनी (6 फीसदी), फ्रांस (6 फीसदी), ब्रिटेन (4 फीसदी), चीन (4 फीसदी), ईरान (3.8 फीसदी) और तुर्की (3.2 फीसदी). भारत में कोरोना संक्रमण जिस गति से 100 केस से बढ़कर 10,000 तक पहुंचा, वह दुनिया में 19वां सबसे धीमा प्रसार है. #उत्तर प्रदेश के एडिशल चीफ सेक्रटरी अवनीश अवस्थी ने कहा कि हेल्थ वर्कर्स के खिलाफ अपराध करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का जाएगी. ऐसे लोगों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून यानि NSA और महामारी एक्ट क तहत मामला दर्ज किया जाएगा. साथ ही मेडिकल टीम को पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी. बता दें कि बुधवार को मुरादाबाद में मेडिकल टीम पर हमले के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के तेवर सख्त हो गए हैं. गुरुवार को उन्होंने कोरोना पर बनाई गई टीम-11 मीटिंग में यह तय किया कि अगर कहीं भी किसी डॉक्टर, पुलिसकर्मी या सफाई कर्मी पर कोई हमला होता है तो ऐसे मामलों में सीधा NSA के तहत कार्रवाई की जाए. साथ ही सीएम योगी ने कहा कि उपद्रवी तत्वों द्वारा तोड़-फोड़ किए जाने पर नुकसान की भरपाई के लिए उनसे वसूली की जाए. ऐसा न करने पर उनकी संपत्ति जब्त की जाए.

Show more
content-cover-image
Top 5 News 16th April'20: सोने से पहले जाने दिन भर की हलचल मुख्य खबरें