content-cover-image

Nitish Kumar बोले, विशेष बसें चलाना लॉकडाउन के पूरे कॉन्सेप्ट के साथ अन्याय

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Nitish Kumar बोले, विशेष बसें चलाना लॉकडाउन के पूरे कॉन्सेप्ट के साथ अन्याय

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजस्थान के कोटा में फंसे छात्रों को वापस लाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा विशेष बसें भेजने के फैसले को गलत ठहराया है. उन्होंने कहा - जैसे विशेष बसें कोटा से छात्रों को लाने के लिए चलायी जा रही हैं वो लॉकडाउन के पूरे कॉन्सेप्ट के साथ अन्याय है. बीजेपी के प्रमुख सहयोगी नीतीश कुमार योगी आदित्यनाथ के इस कदम के ख‍िलाफ पहले भी मुखर रहे हैं और इसको लेकर उन्होंने कहा था कि ऐसे समय में जब सोशल डिस्टेंसिंग आवश्यक है और किसी भी तरह से भीड़ का इकट्ठा होना हालात को बिगाड़ सकता है. हालांकि बिहार सरकार मानती है कि राज्य छात्रों को तो सुविधा प्रदान कर रहे हैं लेकिन जब बात आती है प्रवासी मजदूरों की जो अपने घर लौटने में असमर्थ हैं, तो 'बहाने बनाने' लगते हैं. तीन दिन पहले भी जब 300 छात्रों का एक समूह कोटा से टैक्स‍ियों के जरिए पटना पहुंचा था और उनके पास यात्रा के लिए जरूरी दस्तावेज भी ि‍मिले थे तब भी बिहार सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को लिखा था. बिहार के मुख्य सचिव दीपक कुमार ने पत्र में राजस्थान सरकार द्वारा दिए गए विशेष परमिट को रोकने का आग्रह करते हुए कहा, 'इससे पंडोरा बॉक्स खुल जाएगा. अगर आप छात्रों को अनुमति देते हैं, तो आप किस आधार पर फंसे हुए मजदूरों को रोक सकते हैं.' गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने छात्रों को वापस अपने राज्य लाने की योजना बनाई है. सरकार ने फैसला किया है कि आगरा से 200 बसें कोटा में फंसे छात्रों को वापस लाने के लिए जाएंगी.

Show more
content-cover-image
Nitish Kumar बोले, विशेष बसें चलाना लॉकडाउन के पूरे कॉन्सेप्ट के साथ अन्यायमुख्य खबरें