content-cover-image

कोरोना लॉकडाउन से कैसे बाहर निकल रहे देश, क्या हैं WHO के सुझाव

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

कोरोना लॉकडाउन से कैसे बाहर निकल रहे देश, क्या हैं WHO के सुझाव

नोवेल कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बावजूद अमेरिका समेत कई देशों को कारखानों, दुकानों, यात्रा और जन गतिविधियों को फिर से खोलने के दबाव का सामना करना पड़ रहा है. भारत में भी नए दिशा निर्देशों के साथ 20 अप्रैल से कुछ जरूरी गतिविधियों को छूट दी जा रही है. दरअसल जिन देशों में कोरोना वायरस से निपटने के लिए लॉकडाउन जारी है, आर्थिक मोर्चे पर उनका नुकसान लगातार बढ़ रहा है और नौकरियां जा रही हैं. इस बीच कई देशों में प्रतिबंधों में ढील देने की मांग के साथ प्रदर्शन भी देखने को मिल रहे हैं. ऐसे में सरकारों के सामने कोरोना वायरस के खतरे को कम से कम करते हुए लॉकडाउन से बाहर निकलने की बड़ी चुनौती है. ये कैसे किया जाए, इसका एक उदाहरण उस जगह से भी मिलता है, जहां नोवेल कोरोना वायरस महामारी शुरू हुई थी, यानी कि चीन का वुहान. दिसंबर 2019 में नोवेल कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आने के बाद वुहान में 23 जनवरी 2020 को लॉकडाउन लागू किया गया था. वुहान में लॉकडाउन एक साथ नहीं हटाया गया. 25 मार्च को इस दिशा में एक बड़ा कदम उठाया गया था, जब लॉकडाउन के बीच पहली बार शहर के अंदर बस सेवा शुरू हुई. इसके बाद 8 अप्रैल को वुहान का लॉकडाउन खत्म हो गया. हालांकि स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने आगाह किया कि संक्रमण बढ़ने का खतरा अभी पूरी तरह से दूर नहीं हुआ है. ऐसे में अभी भी कुछ तरह के ऐहतियाती उपाय लागू हैं. इस सवाल का सीधा जवाब देना आसान नहीं है कि क्या वुहान मॉडल को सफल माना जाए? फिर भी कुछ अहम् प्वाइंट्स के आधार पर जवाब तलाशा जा सकता है. कुल संक्रमित मामलों के आधार पर नोवेल कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की लिस्ट में अमेरिका टॉप पर है. इस लिस्ट में उसके बाद स्पेन, इटली, फ्रांस और जर्मनी का नंबर है. इन सभी देशों में फिलहाल कोरोना वायरस से निपटने के लिए पाबंदियां जारी हैं.

Show more
content-cover-image
कोरोना लॉकडाउन से कैसे बाहर निकल रहे देश, क्या हैं WHO के सुझावमुख्य खबरें