content-cover-image

चावल से इथेनॉल बनाने का Rahul ने किया विरोध, कहा- फैसला अमीरों के हक में

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

चावल से इथेनॉल बनाने का Rahul ने किया विरोध, कहा- फैसला अमीरों के हक में

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने केंद्र सरकार के उस फैसले की सख्त आलोचना की है जिसमें सरकार ने चावल से इथेनॉल बनाने को मंजूरी दे दी है. इस इथेनॉल का इस्तेमाल सैनिटाइजर बनाने के लिए किया जा सकेगा. कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए इस वक्त देश में बड़े पैमाने पर इथेनॉल की मांग है. इस काम के लिए एफसीआई के गोदाम में पड़े अतिरिक्त चावल का इस्तेमाल किया जाएगा. केंद्र ने इसकी मंजूरी दी है. राहुल गांधी ने कहा है कि ये फैसला अमीरों के हक में है, उन्होंने कहा कि भारत के गरीबों को केंद्र के इस फैसले का विरोध करना चाहिए. कांग्रेस ने कहा है कि सरकार शराब बनाने वाली कंपनियों से कहे कि इथेनॉल का उत्पादन करे ताकि सैनिटाइजर बनाया जा सके. पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा कि गरीब भूख से मर रहे हैं और देश की सरकार उनके हिस्से के चावल से सैनिटाइजर बनवाना चाहती है. साथ ही बाद में कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि सरकार इस फैसले से देश के गरीबों का मजाक उड़ा रही है. उन्होंने कहा, "हम देख चुके हैं कि प्रवासी मजदूर मीलों तक चलकर अपने घर जा रहे हैं, उनके लिए खाने की किल्लत है, कांग्रेस ने सरकार से अपील की है कि सभी को भोजन के अधिकार कानून के तहत खाना दिया जाए. लेकिन सरकार का ये फैसला मजाक है." पवन खेड़ा ने कहा कि सरकार को इथेनॉल के लिए देश के शराब फैक्ट्रियों की मदद लेनी चाहिए. उन्होंने कहा कि गरीबों को अनाज देने के बजाय सरकार ने उन्हें झटका दिया है.

Show more
content-cover-image
चावल से इथेनॉल बनाने का Rahul ने किया विरोध, कहा- फैसला अमीरों के हक मेंमुख्य खबरें