content-cover-image

विश्व अस्थमा दिवस: अस्थमा के रोगियों के लिए फायदेमंद है लॉकडाउन !

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

विश्व अस्थमा दिवस: अस्थमा के रोगियों के लिए फायदेमंद है लॉकडाउन !

आज (पांच मई) को विश्व अस्थमा दिवस है। चिकित्सकों की मानें तो अस्थमा मरीजों को अच्छे इलाज के साथ-साथ सांस लेने के लिए अच्छी हवा, सही खानपान और परहेज की जरूरत होती है। वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. संजीव मिगलानी ने बताया कि लॉकडाउन में एक्यूआई का 40 तक आ जाना अस्थमा मरीजों के लिए बेहद लाभदायक है, क्योंकि उनके लिए या तो धूम्रपान परेशानी खड़ी करता है या फिर दूषित हवा। ईंट-भटठों पर काम करने वाले भी इस रोग का शिकार होते हैं। एसबीडी जिला अस्पताल के चिकित्सक डॉक्टर सतीश कुमार का कहना है कि अधिक प्रदूषण की वजह से ही दिल्ली जैसे महानगरों में रहने वाले अस्थमा मरीजों को अधिक परेशानी रहती है। अस्थमा के लक्षण होते हैं खांसी का बने रहना, सांस लेने में आवाज का आना, छाती में जकड़न रहना और सीटी बजने जैसी आवाज आना। घुटन महसूस होना, सोते समय सांस का फूलना और सुबह के समय अधिक खांसी होना। और इसके कारण हैं - आनुवंशिक या मानसिक तनाव। - धूम्रपान या खांसी की अनदेखी करना।  - सीलन वाले मकानों में रहना।  - वाहनों और फैक्टरियों से निकलने वाला धुआं।  इससे बचाव के लिए - धूम्रपान, धूल, धुएं, परफ्यूम आदि से बचें। - तला, भुना भोजन ना करें। - लक्षण आने पर तुरंत इलाज कराएं और इनहेलर का इस्तेमाल करें।

Show more
content-cover-image
विश्व अस्थमा दिवस: अस्थमा के रोगियों के लिए फायदेमंद है लॉकडाउन ! मुख्य खबरें