content-cover-image

कश्मीर की कवरेज के लिए तीन भारतीयों को मिला पुलित्जर पुरस्कार

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

कश्मीर की कवरेज के लिए तीन भारतीयों को मिला पुलित्जर पुरस्कार

बहुत कम ऐसे मौके आते हैं जब कैमरे के पीछे शख्स को भी उतनी खींची तस्वीर जितनी ही शोहरत मिले। कुछ ऐसा ही हुआ है 3 भारतीय फोटोग्राफर के साथ जिन्हें प्रतिष्ठित पुलित्जर फीचर फोटोग्राफी से सम्मानित किया गया है। तीनों फोटोग्राफर डार यासिन, मुख्तार खान और चन्नी आनंद न्यूज एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस (एपी) के लिए काम करते हैं। इन्हें आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद कश्मीर के हालातों को तस्वीरों के माध्यम से दिखाने के लिए यह सम्मान मिला है। यासिन और मुख्तार श्रीनगर में रहते हैं, जबकि आनंद जम्मू जिले के निवासी हैं। तीनों ने कश्मीर में पिछले साल 5 अगस्त को आर्टिकल 370 के हटाए जाने के बाद से लागू प्रतिबंध और वहां के हालातों को अपने कैमरे के माध्यम से बखूबी दिखाया। इस दौरान उन्होंने विपरीत परिस्थितियों में भी अपनी जिम्मेदारी को बखूबी अंजाम दिया। कई बार प्रदर्शनकारियों से बचने के लिए सब्जी की टोकरियों में कैमरे छिपाए। अजनबी बनकर लोगों के बीच रहे। तीनों फोटोग्राफर ने प्रदर्शन, पुलिस-अर्धसैनिक बलों की कार्रवाई और लोगों की जिंदगी की तस्वीरें एजेंसी के दिल्ली ऑफिस तक पहुचाईं।सम्मानित किए जाने के बाद यासीन ने बताया, 'यह चूहे-बिल्ली का खेल होता था। इन हालातों ने हमें कभी भी चुप न रहने के लिए और अधिक दृढ़ बना दिया था।' उन्होंने कहा कि इंटरनेट बंद रहने से फोटो दिल्ली भेजने में दिक्कत भी आती थीं। मेमोरी कार्ड से फोटो दिल्ली भेजने के लिए एयरपोर्ट पर दिल्ली जाने वाले किसी यात्री को मनाते थे। जम्मू में रहने वाले चन्नी आनंद ने बताया कि 20 साल एपी के साथ काम करने के बाद यह इनाम मिला। पुरस्कार जीतने पर बेहद खुश आनंद ने कहा, 'मैं आश्चर्यचकित हूं। मुझे तो विश्वास ही नहीं हो रहा है।' देर रात इन प्रतिष्ठित पुरस्कारों की घोषणा हुई। इन तीनों ने घाटी के सामान्य जनजीवन के साथ ही प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाबलों की तस्वीरों को भी दुनिया तक पहुंचाया। आपको बता दें की पुलित्जर पुरस्कार की शुरुआत 1917 से की गई थी, जिसे पत्रकारिता, साहित् और रचना के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वालों को प्रदान किया जाता है. इसकी स्थापना हंगरी मूल के जोसेफ पुलित्जर ने की थी.

Show more
content-cover-image
कश्मीर की कवरेज के लिए तीन भारतीयों को मिला पुलित्जर पुरस्कारमुख्य खबरें