content-cover-image

देश के इतने अस्पतालों में Plasma Therapy के ट्रायल को मिली मंज़ूरी

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

देश के इतने अस्पतालों में Plasma Therapy के ट्रायल को मिली मंज़ूरी

कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों को गंभीर अवस्था से बाहर लाने के लिए प्लाज्मा थैरेपी के ट्रायल को अब मंजूरी मिल चुकी है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने 10 राज्य के 21 अस्पतालों में यह ट्रायल करने का फैसला लिया है जिसे क्लीनिकल ट्रायल रजिस्ट्री ऑफ इंडिया (सीटीआरआई) में पंजीकृत करा लिया है। फिलहाल इस ट्रायल के लिए 452 संक्रमित मरीजों को शामिल किया है। आईसीएमआर के अनुसार इस ट्रायल के लिए दिल्ली एम्स सहित देश के 111 चिकित्सीय संस्थानों से आवेदन मिले थे लेकिन फिलहाल 21 अस्पतालों को ही मंजूरी मिल सकी है। हालांकि इन अस्पतालों को अभी और वक्त दिया गया है लेकिन जैसे ही 400 मरीजों का पंजीयन पूरा हो जाएगा उसके बाद अस्पताल की संख्या बढ़ेगी। महाराष्ट्र के पांच और गुजरात के चार अस्पतालों के अलावा मध्यप्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और तमिलनाडू के चार व तेलंगना, कर्नाटक और पंजाब के एक एक अस्पताल शामिल हैं। पीजीआई चंडीगढ़ भी इस ट्रायल में सहभागिता करने वाला है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव कुमार अग्रवाल ने बताया कि प्लाज्मा थैरेपी के लिए बेहद सटीक ट्रायल होने की आवश्यकता है। इसके लिए आईसीएमआर के वैज्ञानिक ट्रायल की निगरानी रखेंगे। दरअसल अभी तक देश में कई अस्पतालों को ट्रायल की मंजूरी मिली थी लेकिन इसके परिणाम में विरोधाभास होने के चलते आईसीएमआर की निगरानी में इसे किया जाएगा।

Show more
content-cover-image
देश के इतने अस्पतालों में Plasma Therapy के ट्रायल को मिली मंज़ूरी मुख्य खबरें