content-cover-image

रेल मंत्रालय ने ट्रेनों के बारे में दी जानकारी, तो लगा ये आरोप..

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

रेल मंत्रालय ने ट्रेनों के बारे में दी जानकारी, तो लगा ये आरोप..

देशभर में फंसे पश्चिम बंगाल के मजदूरों व अन्य कामगारों को लेकर केंद्र और राज्य सरकार आमने-सामने है. रेल मंत्रालय के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से ट्रेनों के संबंध में जानकारी दी गई, जिसके बाद पश्चिम बंगाल के गृह सचिव ने ट्वीट कर रेलवे पर गलत जानकारी देने और गुमराह करने का आरोप लगाया. मंत्रालय की ओर से ट्वीट कर बताया गया था कि भारतीय रेलवे ने फंसे हुए लोगों के लिए अभी तक 300 से ज्यादा ट्रेनें चलाई हैं. ज्यादातर ट्रेनें उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश और ओडिशा में चलाई गई हैं. रेल मंत्रालय ने बताया कि पश्चिम बंगाल से केवल दो श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने की अनुमति मिली है, एक अजमेर शरीफ से और दूसरी एरनाकुलम से. गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) के निवेदन के बाद पश्चिम बंगाल सरकार ने दो ट्रेनें पंजाब से, दो तमिलनाडु से, तीन कर्नाटक से और एक ट्रेन तेलंगाना से चलाए जाने को स्वीकृति दी है. मंत्रालय ने आगे जानकारी दी कि बंगाल की ओर से महाराष्ट्र से ट्रेन चलाए जाने की अनुमति नहीं मिली है. पश्चिम बंगाल में 16 ट्रेनें भेजने की जरूरत है और अभी 6 ट्रेनों के संचालन की मंजूरी लंबित है. भारतीय रेलवे द्वारा दी गई इस जानकारी के बाद बंगाल के गृह सचिव ने ट्वीट करते हुए मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी का खंडन किया. उन्होंने कहा कि रेलवे मंत्रालय के ट्वीट गलत और गुमराह करने वाले हैं.

Show more
content-cover-image
रेल मंत्रालय ने ट्रेनों के बारे में दी जानकारी, तो लगा ये आरोप..मुख्य खबरें