content-cover-image

देश के हर जिले में हर हफ्ते होगा 200 लोगों का कोरोना टेस्ट

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

देश के हर जिले में हर हफ्ते होगा 200 लोगों का कोरोना टेस्ट

पूरे देश में कोरोना वायरस के लिए पुख्ता निगरानी तंत्र तैयार होगा। इसके लिए हर जिले में हर हफ्ते कोरोना का 200 टेस्ट अनिवार्य रूप से होगा। खास बात यह है कि ये टेस्ट उन लोगों का किया जाएगा, जिनमें कोरोना का कोई लक्षण नहीं है। इससे हर जिले में आम लोगों के शरीर में कोरोना वायरस की मौजूदगी का तत्काल पता लगाया जा सकेगा और बाद में उसके नियंत्रण के लिए विशेष कदम उठाये जा सकेंगे। ध्यान देने की बात है कि देश के सभी जिलों में सर्दी-खांसी-जुकाम-बुखार जैसे कोरोना के लक्षण वाले मरीजों का कोरोना टेस्ट पहले से अनिवार्य रूप से किया जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को जारी दिशानिर्देश में सभी राज्यों को हर जिले में कोरोना के जांच का बंदोबस्त करने को कहा है। इसके तहत हर जिले में छह सरकारी और चार निजी अस्पतालों को चुना जाएगा, जहां से सैंपल इकट्ठा किया जाएगा। जिन लोगों का सैंपल लिया जाएगा, उन्हें भी दो भागों में बांटा गया है। हाई-रिस्क ग्रुप में हेल्थ केयर वर्कर्स को रखा गया है और इनके हर हफ्ते 100 यानी महीने 400 सैंपल की जांच होगी। इसके अलावा बिना सर्दी-खांसी-जुकाम वाले मरीजों और गर्भवती महिलाओं को लो-रिस्क ग्रुप में रखा गया है। इन दोनों के हर हफ्ते 50-50 यानी महीने में 200-200 सैंपल की कोरोना की जांच होगी। इस तरह से पूरे देश में हर हफ्ते डेढ लाख और महीने में छह लाख ऐसे मरीजों का कोरोना टेस्ट सुनिश्चित किया जाएगा, जिनमें इसका कोई लक्षण नहीं है।

Show more
content-cover-image
देश के हर जिले में हर हफ्ते होगा 200 लोगों का कोरोना टेस्टमुख्य खबरें