content-cover-image

कोरोना से जंग में आयुर्वेदिक दवाएं बनेंगी हथियार

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

कोरोना से जंग में आयुर्वेदिक दवाएं बनेंगी हथियार

कोरोना वायरस की लगातार बढ़ती रफ्तार को नियंत्रित करने के लिए सरकार सभी विकल्प अपना रही है. अब इसके इलाज के लिए आयुर्वेदिक दवाओं को भी इस्तेमाल में लाया जाएगा. आयुष मंत्री श्रीपद नाइक के मुताबिक, भारत चार आयुर्वेदिक दवाओं पर काम कर रहा है और जल्द ही परीक्षण शुरू किया जाएगा. नाइक ने इस संबंध में ट्वीट करके बताया कि आयुष मंत्रालय और CSIR कोरोना के खिलाफ 4 आयुष दवाओं को प्रमाणित करने पर काम कर रहे हैं. एक हफ्ते के भीतर इसका परीक्षण शुरू होगा. इन दवाओं का इस्तेमाल COVID-19 मरीजों पर एड-ऑन थेरेपी और स्टैण्डर्ड केयर के तौर पर किया जाएगा’. कहा जाता है कि आयुर्वेद में बड़ी से बड़ी बीमारी का इलाज है, इसलिए सरकार कोरोना से जंग में यह विकल्प भी आजमाना चाहती है. यदि यह प्रयोग सफल रहता है, तो कोरोना के बढ़ते मामलों को सीमित करने में कामयाबी मिल सकती है. फिलहाल, तो स्थिति में उम्मीदों के अनुरूप सुधार देखने को नहीं मिल रहा है. ऐसे में आयुष मंत्रालय के इस प्रयोग पर सभी की निगाहें टिकी हैं.

Show more
content-cover-image
कोरोना से जंग में आयुर्वेदिक दवाएं बनेंगी हथियारमुख्य खबरें