content-cover-image

मुंबई पर आ सकती है नई मुसीबत, सरकार और निजी अस्पताल आमने-सामने

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

मुंबई पर आ सकती है नई मुसीबत, सरकार और निजी अस्पताल आमने-सामने

भारत में कोरोनावायरस से सर्वाधिक पीड़ित शहर मुंबई को आने वाले दिनों में एक नई आपदा का सामना करना पड़ सकता है. और यह आपदा पूरी तरह से मानवजनित है. शहर के 53 निजी अस्पतालों ने मुख्यमंत्री उद्धव बालासाहेब ठाकरे को पत्र लिखकर निजी स्वास्थ्य केंद्रों में गैर कोविड बेड्स की प्राइसिंग के मामले पर चिंता जाहिर की है. अस्पतालों के नॉट-फॉर-प्रॉफिट फोरम एसोसिएशन ऑफ हॉस्पिटल्स ने कहा है कि महराष्ट्र सरकार की अधिसूचना से पूरा स्वास्थ्य क्षेत्र धराशायी हो जाएगा. हाल ही में राज्य सरकार ने निजी स्वास्थ्य केंद्रों के लिए यह अनिवार्य किया था कि वे अपने यहां बेड्स की एक निश्चित कीमत ही वसूलें. इस पत्र पर दस्तखत करने वाले डॉ डी. के. चौधरी एसोसिएशन के मानद सचिव भी हैं. उन्होंने पत्र में सरकार और निजी अस्पतालों के बीच एक स्थायी पार्टनरशिप तैयार करने के सुझाव भी दिए हैं. गौरतलब है कि मुंबई में कोविड-19 के 30,000 से अधिक मामले हैं और बताया जा रहा है कि वहां कोविड-19 के मरीजों के लिए अस्पतालों में बेड्स खत्म हो गए हैं.

Show more
content-cover-image
मुंबई पर आ सकती है नई मुसीबत, सरकार और निजी अस्पताल आमने-सामनेमुख्य खबरें