content-cover-image

आज की मुस्कान: भीख मांगने वाले हाथ कर रहे दूसरों की मदद

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

आज की मुस्कान: भीख मांगने वाले हाथ कर रहे दूसरों की मदद

भीख मांगकर अपना और अनाथ बच्चों का गुजारा करने वालीं बंगाल के हुगली जिले के सिंगुर की रहने वाली लक्खी दास पात्र इन दिनों लाॅकडाउन में फंसे लोगों का भी पेट पाल रही हैं। संकट के दौर में सिंगुर स्टेशन के पास झोपड़पट्टी में रहने वाले असहाय लोगों की लक्खी भीख में मिले अनाज से मदद कर रही है। लक्खी अपने सहयोगी के साथ साइकिल पर अनाज लेकर झोपड़पट्टी में आती हैं और अपने हाथों से चावल एवं आलू गरीब परिवारों में बांटती हैं। झोपड़पट्टी की रहने वाली शीला बैद्य ने कहा-'लक्खी खुद भीख मांगकर अपना और अनाथ बच्चों का पेट पालती है, इसके बावजूद इस मुश्किल घड़ी में वह जिस प्रकार से हमारी मदद कर रही हैं, उसे हम कभी नहीं भूल पाएंगे।' झोपड़पट्टी में रहने वाले बाकी सभी लोंगो का भी यही कहना है कि लक्खी के अनाज से ही उनके बच्चों को भोजन नसीब हो रहा है' सिंगुर के मिर्जापुर-मामदपुर गांव मे लक्खी अपने बेटे के साथ रहती हैं। लक्खी ने अनाथ बच्चों के लिए 'सबूजानंद मिशन' के नाम से अनाथ आश्रम खोला है, जहां 12 बच्चे रहते हैं। इन बच्चों को भोजन, कपड़े, पाठ्य सामग्रियों के साथ जरूरत की विभिन्न चीजें मुहैया कराई जाती हैं । और इस तरह वो ना जाने कितने ही बेसहारा और मजबूर लोंगो के चेहरे की मुस्कान बन रही है

Show more
content-cover-image
आज की मुस्कान: भीख मांगने वाले हाथ कर रहे दूसरों की मददमुख्य खबरें