content-cover-image

प्रवासी मजदूरों की जरूरत के अनुसार स्टेशन पर रूकेगी ट्रेन

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

प्रवासी मजदूरों की जरूरत के अनुसार स्टेशन पर रूकेगी ट्रेन

प्रवासी मजदूरों की सुरक्षित और सुचारू रूप से घर वापसी सुनिश्चित करने के लिए गृहमंत्रालय ने नया तौर-तरीका (एसओपी) जारी किया है। इसके अनुसार रेल मंत्रालय अब राज्यों के साथ-साथ गृहमंत्रालय के साथ समन्वय कर ट्रेनों का परिचालन करेगा। प्रवासी मजदूरों को भेजने वाले और बुलाने वाले राज्य नोडल अधिकारियों को नियुक्त करेगा, ताकि श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के परिचालन में कोई दिक्कत नहीं आए। नए एसओपी से इन ट्रेनों के जरूरत के मुताबिक कई स्टेशनों पर रुकने का रास्ता साफ हो गया है, ताकि प्रवासी मजदूरों के घर लौटने में असुविधा का सामाना नहीं करना पड़े। गृहसचिव अजय भल्ला द्वारा जारी नए एसओपी के अनुसार रेलवे सभी राज्यों की मांग को ध्यान में रखते हुए श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की समय सारिणी और रूकने वाले स्टेशनों की सूची जारी करेगा। इस बारे में सभी राज्यों को पहले से बताने की जिम्मेदारी रेलवे की होगी। इससे राज्य प्रवासी मजदूरों के लिए समय पर बेहतर इंतजाम कर सकेंगे। रेलवे मनमाने तरीके से इन ट्रेनों के रूकने के स्टेशन तय नहीं करेगा, बल्कि इसके लिए यह देखा जाएगा कि प्रवासी मजदूर कहां-कहां जाना चाहते हैं और उसके अनुसार ही अधिक-से-अधिक रूकने के स्टेशन तय किये जाएंगे। अभी तक स्पेशल ट्रेने तीन स्टेशनों पर ही रुकती थी। इसके कारण कई मजदूरों के अपने घर से सैकड़ों किलोमीटर दूर उतना पड़ता था।

Show more
content-cover-image
प्रवासी मजदूरों की जरूरत के अनुसार स्टेशन पर रूकेगी ट्रेनमुख्य खबरें