content-cover-image

बसों की सियासत में नया मोड़, अब Priyanka ने यूपी सरकार से कहा ये

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

बसों की सियासत में नया मोड़, अब Priyanka ने यूपी सरकार से कहा ये

उत्तर प्रदेश में प्रवासी श्रमिक-कामगारों के लिए बस मुहैया कराने के प्रस्ताव से शुरू हुई सियासत ने दिल्ली तक हंगामा खड़ा कर दिया है। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को कांग्रेस द्वारा उपलब्ध कराई गई एक हजार बसों की सूची पर विवाद खड़ा होने के बाद पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा ने जांच में सही पाई गई 879 बसों के लिए अनुमति मांगी है। साथ ही दो सौ बसों की नई सूची बुधवार तक सरकार को उपलब्ध कराने की बात कही है। वहीं, उत्तर प्रदेश सरकार की घेराबंदी के प्रयास में कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता भी दिल्ली में सामने आ गए और पार्टी का पक्ष रखने के साथ योगी सरकार पर संवेदनहीनता के आरोप लगाए। कांग्रेस द्वारा दी गई तमाम बसों के नंबर गलत मिलने, अनफिट पाए जाने आदि के बाद प्रियंका ने ट्वीट किया। उन्होंने लिखा- उप्र सरकार का खुद का बयान है कि हमारी 1049 बसों में से 879 बसें जांच में सही पाई गईं। ऊंचा नगला बॉर्डर पर आपके प्रशासन ने हमारी 500 से ज्यादा बसों को घंटों से रोक रखा है। इधर, दिल्ली बॉर्डर पर भी 300 से ज्यादा बसें पहुंच रही हैं। कृपया इन 879 बसों को तो चलने दीजिए। हम आपको कल 200 बसों की नई सूची दिलाकर बसें उपलब्ध करा देंगे। बेशक, आप इस सूची की भी जांच कीजिएगा। लोग बहुत कष्ट में हैं। दुखी हैं। हम और देर नहीं कर सकते। उधर, दिल्ली में पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला और पूर्व मंत्री राजीव शुक्ला ने पत्रकारों से बातचीत में कांग्रेस का पक्ष रखा। सुरजेवाला ने कहा कि उत्तर प्रदेश में हजारों लोग नंगे पांव रोज का अपना बोझ पीठ पर उठाए, बच्चे को गोदी में लिए पैदल चले जा रहे हैं। उनकी पीड़ा भाजपा की उत्तर प्रदेश सरकार को नजर क्यों नहीं आती? कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा और कांग्रेस के सब साथी आगे आकर 1,000 बसों का इंतजाम कर रहे हैं तो उत्तर प्रदेश की सरकार इसमें रोड़ा अटका रही है, अडंगा डाल रही है।

Show more
content-cover-image
बसों की सियासत में नया मोड़, अब Priyanka ने यूपी सरकार से कहा ये मुख्य खबरें