content-cover-image

KHABRI SPL: स्व. राजीव गाँधी से कैसे जुड़ा आतंकवाद विरोधी दिवस ?

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

KHABRI SPL: स्व. राजीव गाँधी से कैसे जुड़ा आतंकवाद विरोधी दिवस ?

भारत के पूर्व और पहले युवा प्रधानमंत्री, राजीव गांधी जिस समय रैली को संबोधित कर रहे थे उसी दौरान तीस साल की एक नाटी, काली और गठीली महिला चंदन का एक हार ले कर उनकी तरफ़ बढ़ी. जैसे ही वो उनके पैर छूने के लिए झुकी, कानों को बहरा कर देने वाला धमाका हुआ. ये 21 मई, 1991 को हुआ वो धमाका था जिसमें राजीव गांधी की मौत हुई.और उनके समेत 25 लोग मारे गए. तब से देश में हर साल इस दिन को आतंकवाद विरोधी दिवस के रूप में मनाया जाता है. आखिरी वक़्त में राजीव गांधी कैसे थे और क्या कर रहे थे, आइये विस्तार से बताएं उस मनहूस दिन की कहानी।

Show more
content-cover-image
KHABRI SPL: स्व. राजीव गाँधी से कैसे जुड़ा आतंकवाद विरोधी दिवस ?मुख्य खबरें