content-cover-image

हवाई यात्रा के लिए गाइडलाइन्स के बाद किराया भी फिक्स

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

हवाई यात्रा के लिए गाइडलाइन्स के बाद किराया भी फिक्स

केंद्रीय उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने घरेलू उड़ानों के संचालन और विदेशों से लोगों को लाए जाने को लेकर बातचीत की. उन्होंने इस दौरान कहा कि वंदे भारत मिशन के तहत कई भारतीय वापस लाए गए हैं. अब तक करीब 20 हजार लोग अलग-अलग देशों से लाए गए हैं. पुरी ने कहा कि एयर इंडिया के अलावा कई प्राइवेट एयरलाइंस ने भी इसमें मदद की. जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों को भारत लाने में मदद मिल रही है. इस दौरान उन्होंने उड़ानों का किराया तय करने की भी बात कही. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि, वंदे भारत मिशन सभी को वापस लाने के लिए नहीं है. ये सिर्फ उनके लिए है, जो फंसे हुए हैं. अगर सभी भारतीयों को लाने की बात करें तो विदेशों में लाखों भारतीय रहते हैं. जिन्हें वापस लाना मुमकिन नहीं है. उन्होंने कहा कि अब तक वंदे भारत मिशन काफी अच्छा चल रहा है. उन्होंने बताया कि, अब तक कई टन कार्गो भी भारत आया है. लाइफ लाइन उड़ान फ्लाइट्स के जरिए काफी सपोर्ट मिल रहा है. जिनमें मेडिकल से जुड़ी चीजें सप्लाई हो रही हैं. पुरी ने बताया कि फ्लाइट्स में ज्यादा से ज्यादा लोग सफर कर पाएं, इसके लिए कदम उठाए जा रहे हैं. इसीलिए किराए का सीमित होना जरूरी है. अब किराए को भी तय कर दिया गया है. दिल्ली और मुंबई की यात्रा के लिए कम से कम किराया 3500 रुपये होगा, जो 90 से 120 मिनट की फ्लाइट के लिए होगा. वहीं इस यात्रा के लिए ज्यादा से ज्यादा किराया 10 हजार रुपये होगा. ये अगले तीन महीने के लिए लागू होगा. केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने कहा कि कभी न कभी तो हमें फ्लाइट्स को चालू करना ही था. फैसले लेना हमेशा मुश्किल होता है. लेकिन अब दो महीने बाद ये सब शुरू होना जरूरी है.

Show more
content-cover-image
हवाई यात्रा के लिए गाइडलाइन्स के बाद किराया भी फिक्समुख्य खबरें