content-cover-image

दावा: सफ़ल हुआ लॉकडाउन, नही तो इतने लाख तक होते Corona के मामले

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

दावा: सफ़ल हुआ लॉकडाउन, नही तो इतने लाख तक होते Corona के मामले

सरकार ने एक बार फिर दावा किया है कि लॉकडाउन ने कोरोना महामारी पर ब्रेक लगाने में क़ामयाबी हासिल की है. सरकार की ओर से कोरोना पर होने वाली प्रेस कॉन्फ्रेंस में सांख्यिकी और कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय के सचिव प्रदीप श्रीवास्तव ने आज गणितीय अनुमानों के आधार पर एक आंकड़ा पेश किया. आंकड़े के मुताबिक़, अगर लॉकडाउन नहीं लगाया गया होता तो अबतक देश में कोरोना के औसतन 20 लाख मामले सामने आ गए होते जबकि बीमारी से औसतन 54000 लोग जान गंवा चुके होते .आकलन बीसीजी नामक संस्था, पीएचएफआई नामक संस्था आदि ने किये है।एक आकलन सांख्यिकी और कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय ने प्रतिष्ठित भारतीय सांख्यिकी संस्थान के साथ तैयार किया है . इसके मुताबिक़ अगर देश में लॉक डाउन नहीं लगा होता तो 14 से 29 लाख लोग बीमार हो चुके होते जबकि 37000 से 78000 लोग अपनी जान गंवा चुके होते .

Show more
content-cover-image
दावा: सफ़ल हुआ लॉकडाउन, नही तो इतने लाख तक होते Corona के मामलेमुख्य खबरें