content-cover-image

प्रवासी मज़दूरों की भूख मिटाने आगे आया ब्रिटिश शख्स

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

प्रवासी मज़दूरों की भूख मिटाने आगे आया ब्रिटिश शख्स

दिल्ली में फंसे प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए ब्रिटिश नागरिक जैस्पर रीड ने कमाल कर दिखाया है. ऐसे में जब कोविड-19 महामारी के चलते मजदूरों की रोजगारी छिन गई है और उनके पास खाने-पीने की समस्या खड़ी हो गई है, जैस्पर रीड कई लोगों के लिए आशा की किरण बन गए हैं. रीड ने अपने साथी मुकेश के साथ मिलकर लॉकडाउन में दूसरों पर निर्भर होने को मजबूर लोगों की मदद के लिए दुनियाभर से 2 करोड़ रुपए का फंड इकट्ठा किया है. खास बात यह है कि रीड ने इसकी शुरुआत महज 30 लोगों की मदद से की थी, अब वो लगभग 600 परिवारों का पेट भर रहे हैं.अभी तक उनकी टीम लोगों को खाना-पानी और राशन दे रही थी, लेकिन अब जैस्पर इस दिशा में एक दूसरा कदम आगे बढ़ाना चाहते हैं. उन्होंने पैदल अपने घरों की ओर जा रहे मजदूरों की मदद के लिए हरियाणा सरकार के साथ मिलकर इन मजदूरों को बस की सुविधा देने की शुरुआत की है.

Show more
content-cover-image
प्रवासी मज़दूरों की भूख मिटाने आगे आया ब्रिटिश शख्समुख्य खबरें