content-cover-image

मोदी सरकार की सफलता, IT रिटर्न में 71% की वृद्धि

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

मोदी सरकार की सफलता, IT रिटर्न में 71% की वृद्धि

पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के मुकाबले इस साल आयकर रिटर्न भरने वालों की संख्या में उल्लेखनीय सुधार हुआ है. वित्त वर्ष 2018 के लिए आयकर रिटर्न भरने की अंतिम तारीख 31 अगस्त तक 5.42 करोड़ रिटर्न दाखिल किए गए जबकि पिछले साल यह संख्या 3.17 करोड़ थी. इस साल आयकर रिटर्न दाखिल करने वालों की संख्या में शानदार 70.86 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. आमतौर पर आयकर रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तारीख 31 जुलाई होती है, लेकिन इस साल वित्त मंत्रालय ने इस अवधि को बढ़ाकर 31 अगस्त 2018 कर दिया था. अधिकारियों ने बताया कि रिटर्न दाखिल करने का काम 31 अगस्त की मध्यरात्रि तक चला. इसलिए इनकी संख्या में और बढ़ोतरी हुई है. इसके अलावा केरल में बाढ़ आने की वजह से वहां रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि 15 सितंबर तक बढ़ा दी गई है. पिछले साल इस तिथि तक करीब 3.2 करोड़ लोगों ने आयकर रिटर्न दाखिल किए थे. रिटर्न दाखिल करने वालों की संख्या में वृद्धि के लिए अधिकारियों ने मुख्य तौर पर दो वजहें बताईं हैं. पहला नोटबंदी की वजह से कर आधार का विस्तार होना और दूसरा पहली बार देरी से रिटर्न दाखिल करने पर जुर्माना लगाने का फैसला होना है. इनकी वजह से कर रिटर्न अनुपालन की दर बढ़ी है. खास बात यह कि ऑनलाइन रिटर्न दाखिल करने वालों की संख्या में अच्छी खासी बढ़ोतरी हुई है जिन्हें अनुमानित कराधान योजना का लाभ मिलेगा.

Show more
content-cover-image
मोदी सरकार की सफलता, IT रिटर्न में 71% की वृद्धिमुख्य खबरें