content-cover-image

देश के 3 बड़े बैंकों के मर्जर से मिलेंगे ये फायदे..

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

देश के 3 बड़े बैंकों के मर्जर से मिलेंगे ये फायदे..

बैंक ऑफ बड़ौदा, विजया बैंक और देना बैंक विलय की घोषणा की जा चुकी है. संभावना है कि इन तीनों बैंकों के विलय के बाद बनने वाला नया बैंक 1 अप्रैल से काम करना भी शुरु कर देगा. विलय से इन बैंकों के लिए बैंकिंग के मायने बदल जाएंगे और ग्राहकों को भी कई लाभ होंगे. बैंक ऑफ बड़ौदा, विजया बैंक और देना बैंक के विलय से ग्राहकों के लिए सेवाओं का दायरा बढ़ जाएगा. दक्षिण भारत में विजया बैंक की मज़बूत पकड़ है. वहीं उत्तर और पश्चिम भारत में बैंक ऑफ बड़ौदा का काफी अच्छा नेटवर्क है. ऐसे में इन तीनों बैंकों के ग्राहकों को पूरे भारत में आसानी से सेवाएं मिल सकेंगी. बैंक ऑफ बड़ौदा का नेटवर्क विदेशों में भी है, ऐसे में बाकी दोनों बैंकों के ग्राहकों को अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क का लाभ मिल सकेगा. तीनों बैंकों के मर्जर के बाद बनने वाला बैंक देश का तीसरा सबसे बड़ा बैंक होगा. ऐसे में इस बैंक का पास भरपूर पूंजी होगी. ऐसे में ये बैंक ग्राहकों को लुभाने के लिए आकर्षक योजनाएं लाएगा. इसी के साथ , बैंक ऑफ बड़ौदा, विजया बैंक और देना बैंक के विलय के बाद बनने वाले बैंक के पास कुल कर्मियों की संख्या 85,000 से ज़्यादा होगी. ऐसे में न ग्राहकों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध् कराने के लिए बैंक के पास पर्याप्त संख्या में कमी होंगे. वहीं तीनों बैंकों के मिल जाने के बाद कर्मियों पर भी काम का बोझ घटेगा. ऐसे में आने वाले समय में देश का तीसरा सबसे बड़ा बैंक निजी बैंकों की तरह अपने खाताधारकों के लिए फाइनेंशिलय असिस्टेंस के लिए भी कर्मियों की नियुक्ति कर सकता है.

Show more
content-cover-image
देश के 3 बड़े बैंकों के मर्जर से मिलेंगे ये फायदे..मुख्य खबरें