content-cover-image
सबरीमाला: बेस कैंप में 1000 सुरक्षाकर्मी तैनात मुख्य खबरें
00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

सबरीमाला: बेस कैंप में 1000 सुरक्षाकर्मी तैनात
महिलाओं के प्रवेश पर लगा प्रतिबंध हटने के बाद सबरीमाला मंदिर बुधवार को पहली बार मासिक पूजा के लिए खोला जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने 12वीं सदी के भगवान अयप्पा के मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर लगा प्रतिबंध हटा दिया था। केरल सरकार ने कहा है कि हम कोर्ट के आदेश को लागू करेंगे। नीलाक्कल स्थित बेस कैंप में एक हजार सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है। लेकिन, पूरे राज्य में अदालत के फैसले का विरोध किया जा रहा है। हंगामे और सामूहिक आत्महत्या की धमकी भी दी गई है। फैसले का विरोध करने वालों में महिलाएं भी शामिल हैं। मंगलवार को भगवान अय्यपा के हजारों भक्तों ने मंदिर जाने वाले सभी रास्तों पर पहरा लगा दिया। मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर सुप्रीम कोर्ट के 28 सितंबर के आदेश के खिलाफ 10 दिन से प्रदर्शन कर रहे हिंदू संगठनों ने जगह-जगह गाड़ियां रोककर महिलाओं को वापस भेजा। मंदिर जाने वाले सभी रास्तों पर 15-20 किलोमीटर पहले भक्तों ने नाके लगा रखे हैं। उनका कहना है कि सरकार ने एक भी महिला को मंदिर में प्रवेश के लिए दबाव बनाया तो वे खुदकुशी करना शुरू कर देंगे। मुख्यमंत्री पी. विजयन ने कहा- किसी भी श्रद्धालु को मंदिर पहुंचने से न रोका जाए। चाहे वह कोई महिला ही क्यों न हो। मंदिर में दर्शन का कवरेज कर रही महिला पत्रकार ने कहा कि उसे भी श्रद्धालुओं ने रोका, जबकि उसका मंदिर में जाने का कोई इरादा नहीं था।
Show more
content-cover-image
सबरीमाला: बेस कैंप में 1000 सुरक्षाकर्मी तैनात मुख्य खबरें