content-cover-image
जतिन्द्र नाथ दास एक क्रांतिकारी

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

जतिन्द्र नाथ दास एक क्रांतिकारी

भारत में स्वतंत्रता के समय कई क्रांतिकारियों ने अपने प्राणों का बलिदान दिया था इन्हीें में से एक क्रांतिकारी जतिन्द्र नाथ दास हैं इनका जन्म 27 अक्टूबर 1904 को कोलकाता में हुआ था इन्हें जिसे जतिन दास भी कहा जाता है। जतिन्द्र नाथ दास भारतीय स्वतंत्रता कार्यकर्ता क्रांतिकारी थे। आजादी के समय 63 दिनों की भूख हड़ताल के बाद लाहौर जेल में उनकी मृत्यु हो 13 सितंबर 1929 को हुई थी। तिन्द्र नाथ दास ने 1921 में गांधी के असहयोग आंदोलन में भी भाग लिया था। नवंबर 1925 में बीए के लिए अध्ययन करते समय कलकत्ता में बंगाबासी कॉलेज में दास को उनकी राजनीतिक गतिविधियों के लिए गिरफ्तार किया गया था उन्हें माईमेंसिंग सेंट्रल जेल में कैद किया गया था। जतिन्द्र नाथ दास जेल में प्रशिक्षित होने के दौरान राजनीतिक कैदियों से मिलने लगे थे इस दौरान ही वे भूख हड़ताल पर चले गए। करीब बीस दिनों के उपवास के बाद, जेल अधीक्षक ने उनसे माफी मांगी उन्होंने उपवास छोड़ दिया।

Show more
content-cover-image
जतिन्द्र नाथ दास एक क्रांतिकारी मुख्य खबरें