content-cover-image
सैनेटरी पैड्स का नशा

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

सैनेटरी पैड्स का नशा

टीनेजर्स के बीच एक ऐसा खतरनाक ट्रेंड चल पड़ा है जिसके बारे में पढ़कर पहली बार में शायद यकीन ही नहीं हो । टीनेजर्स सैनेटरी पैड्स और टैम्पून्स उबालकर नशा कर रहे हैं। इंडोनेशिया में युवा इस्तेमाल किए हुए और बिना इस्तेमाल किए हुए टैम्पून्स और पैड्स से नशा कर रहे हैं। इंडोनेशिया के स्थानीय अखबारों- जकार्ता पोस्ट, जावा पोस और पोस बेलिटुंग में पिछले सप्ताह से इस नए ट्रेंड के बारे में लगातार रिपोर्ट्स छप रही हैं। इंडोनेशिया नेशनल ड्रग एजेंसी के मुताबिक, सैनिटरी पैड फॉर्मूला को पीने से लोगों को नशे और बेसुध होने का एहसास होता है जिसके लिए प्रोडक्ट में मौजूद क्लोरीन जिम्मेदार है। एजेंसी के अध्यक्ष सुप्रिनार्टो ने बताया, कि वे जिस प्रोडक्ट का इस्तेमाल कर रहे हैं, वह लीगल है लेकिन इसे जिस उद्देश्य के लिए बनाया गया है, उस रूप में इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है जो सही नहीं है। इसे ड्रग की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है। कूड़े-कचरे से उठाए गए सैनिटरी पैड्स को लोग उबलते पानी में डाल देते हैं। ठंडा होने पर वे इस लिक्विड को पीते हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, जकार्ता की राजधानी जावा से कई लोगों को सैनिटरी पैड्स से नशा करते पाए जाने पर गिरफ्तार किया गया है। पैड का रैपर हटाकर इसे एक घंटे तक उबाला जाता है और उसके बाद इसे एक कंटेनर में निचोड़कर लिक्विड रख लिया जाता है। इसका स्वाद कड़वा होता है लेकिन यहां दिन भर बच्चे और युवा इस लिक्विड को पीते रहते हैं।

Show more
content-cover-image
सैनेटरी पैड्स का नशा मुख्य खबरें