content-cover-image

नारी सशक्तिकरण संकल्प: एक अभिनव योजना

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

नारी सशक्तिकरण संकल्प: एक अभिनव योजना

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के मातृ शक्ति के सन्देश का पालन करते हुए उत्तर प्रदेश के राजनीतिक इतिहास में संभवतः पहली बार सरकार ने एक महीने का अदभुत अभियान छेड़ा है किसके तहत महिलाओं से सम्बंधित अनेक योजनाओं को उन तक पहुँचाने का जिम्मा लिया गया है। 'नारी सशक्तिकरण संकल्प अभियान‘ के नाम से महिला सशक्तिकरण के दिशा में शुरू की गयी एक महीने की योजना के दौरान जन सम्पर्क, नारी शक्ति शिविर, नारी स्वावलम्बन सम्मेलन जैसी गतिविधियों के माध्यम से, महिलाओं के लिए सरकार द्वारा संचालित सभी कल्याणकारी योजनाओं का लाभ गांव-गांव तक पहुंचाया जाएगा। इसके लिए सरकारी मशीनरी तो कार्य करेगी ही साथ में संघटन के कार्यकर्ता भी महिलाओं के बीच जा कर उनको सरकारी योजनाओं के लाभ समझायेंगे। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डॉ महेंद्र नाथ पांडेय और प्रदेश की समस्त महिला मंत्रियों की उपस्थिति में इस महत्वकांक्षी अभियान की शुरुआत करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उनकी सरकार महिलाओं एवं बालिकाओं को पूरी सुरक्षा देने के साथ-साथ उनके सामाजिक एवं आर्थिक उत्थान के लिए कृतसंकल्पित है। उन्होंने कहा कि देश में लगभग आधी आबादी महिलाओं की है। देश और समाज की प्रगति के लिए विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं की समान भागीदारी आवश्यक है। महिलाओं का सशक्तिकरण एक वृहद अवधारणा है, जिसके लक्ष्यों की पूर्ति हेतु जनभागीदारी के साथ-साथ सभी राजकीय विभागों द्वारा सामूहिक प्रयास किये जाना अति आवश्यक है। ज्ञातव्य है कि नारी को सशक्त करने के उद्देश्य से प्रदेश में लगभग 2 करोड़ 50 लाख जन-धन खाते खोले गए हैं। उज्ज्वला योजना के तहत देश में आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों की महिलाओं को निःशुल्क गैस कनेक्शन प्रदान किए गए हैं,50 लाख महिलाओं को केन्द्र सरकार की मुद्रा योजना का लाभ मिला है और आने वाले दिनों में 3 करोड़ 50 लाख लोगों को राशन कार्ड उपलब्ध कराया जाएगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने ‘नारी सशक्तिकरण संकल्प अभियान’ मार्गदर्शिका पुस्तिका का विमोचन और नारी सशक्तिकरण पर केन्द्रित एक लघु फिल्म का लोकार्पण किया। इस मौके पर नारी सशक्तिकरण का संकल्प लेने व जनसहभागिता सुनिश्चित करने के लिए टोल फ्री नम्बर-8733087330 जारी किया गया। वीमेन पावर हेल्पलाइन ‘1090’ के अलावा महिलाओं तथा बालिकाओं की मदद के लिए महिला कल्याण विभाग द्वारा ‘181’ महिला हेल्पलाइन संचालित की जा रही है। इस सेवा के माध्यम से महिलाओं को हिंसा से संरक्षण, चिकित्सा सुविधा, विधिक सहायता तथा आश्रय व पुनर्वास की सुविधा उपलब्ध करायी जा रही है। वर्तमान में प्रदेश के सभी 75 जिलों में इस हेल्पलाइन के तहत रेस्क्यू वाहनों की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। इन योजनाओं के लाभ के लिए आवश्यक है कि महिलाओं व बालिकाओं को जागरूक किया जाए।

Show more
content-cover-image
नारी सशक्तिकरण संकल्प: एक अभिनव योजनामुख्य खबरें