content-cover-image

राज्यपाल से बहुत उम्मीदें थीं लेकिन किया निराश

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

राज्यपाल से बहुत उम्मीदें थीं लेकिन किया निराश

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने राज्यपाल सत्यपाल मलिक पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें राज्यपाल से बहुत उम्मीदें थी लेकिन वह भी केंद्र के दूसरे गुलामों की तरह निकलें. फारूक अब्दुल्ला ने कहा बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि जब पीडीपी बीजेपी के साथ गठबंधन में थी तो यह टेरर-फ्रेंडली नहीं था. लेकिन जैसे ही पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस की गठबंधन की बात चली तो यह टेरर फ्रेंडली हो गया. फारूक अब्दुल्ला ने कहा, मुझे राज्यपाल से बहुत उम्मीद थी, लेकिन यह बहुत दुख की बात है कि वह भी केंद्र के दूसरे गुलामों की तरह निकले. राज्यपाल को इस पर ध्यान देने की जरूरत है. उन्होंने विधानसभा को भंग करने के लिए पांच महीने का इंतजार क्यों किया?

Show more
content-cover-image
राज्यपाल से बहुत उम्मीदें थीं लेकिन किया निराश मुख्य खबरें