content-cover-image
नहीं रहे बाला साईं आधात्यमिक गुरु बाला साईं बाबा का मंगलवार को हैदराबाद स्थित एक अस्पताल में निधन हो गया. सोमवार देर रात बाला सांई को सीने में दर्द की समस्या के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था. बाला साईं, जिनका वास्तविक नाम सत्यनारयणा राजू था, पुट्टपर्ति के ही एक गरीब परिवार में 23 नवंबर 1926 को जन्मे. सत्यनारायणा एक भाई और दो बहनों के बाद सब से छोटे थे. गरीब परिवार में जन्में बाला साईं के माता और पिता दोनों ही मजदूरी किया करते थे और परिवार का भ्रण-पोषण किया करते थे.

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

नहीं रहे बाला साईं आधात्यमिक गुरु बाला साईं बाबा का मंगलवार को हैदराबाद स्थित एक अस्पताल में निधन हो गया. सोमवार देर रात बाला सांई को सीने में दर्द की समस्या के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था. बाला साईं, जिनका वास्तविक नाम सत्यनारयणा राजू था, पुट्टपर्ति के ही एक गरीब परिवार में 23 नवंबर 1926 को जन्मे. सत्यनारायणा एक भाई और दो बहनों के बाद सब से छोटे थे. गरीब परिवार में जन्में बाला साईं के माता और पिता दोनों ही मजदूरी किया करते थे और परिवार का भ्रण-पोषण किया करते थे.

आधात्यमिक गुरु बाला साईं बाबा का मंगलवार को हैदराबाद स्थित एक अस्पताल में निधन हो गया. सोमवार देर रात बाला सांई को सीने में दर्द की समस्या के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था. बाला साईं, जिनका वास्तविक नाम सत्यनारयणा राजू था, पुट्टपर्ति के ही एक गरीब परिवार में 23 नवंबर 1926 को जन्मे. सत्यनारायणा एक भाई और दो बहनों के बाद सब से छोटे थे. गरीब परिवार में जन्में बाला साईं के माता और पिता दोनों ही मजदूरी किया करते थे और परिवार का भ्रण-पोषण किया करते थे. कहा जाता है कि बाला साईं जब स्कूल में थे तभी से उनके अंदर जीवन की लगन को छोड़कर धार्म की राह पर चलने की भावना को ठाना था. स्कूल के दिनों में तो परिवार ने उनकी बातों को समझा, लेकिन महज 14 साल की उम्र में उन्होंने यह ऐलान करके सबको चौंका दिया कि वह शिर्डी के साईं बाबा के नए अवतार हैं. वह इस दुनिया में भोग-विलास नहीं बल्कि भटके हुए लोगों को रास्ता दिखाने के लिए आए हैं.

Show more
content-cover-image
नहीं रहे बाला साईं आधात्यमिक गुरु बाला साईं बाबा का मंगलवार को हैदराबाद स्थित एक अस्पताल में निधन हो गया. सोमवार देर रात बाला सांई को सीने में दर्द की समस्या के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था. बाला साईं, जिनका वास्तविक नाम सत्यनारयणा राजू था, पुट्टपर्ति के ही एक गरीब परिवार में 23 नवंबर 1926 को जन्मे. सत्यनारायणा एक भाई और दो बहनों के बाद सब से छोटे थे. गरीब परिवार में जन्में बाला साईं के माता और पिता दोनों ही मजदूरी किया करते थे और परिवार का भ्रण-पोषण किया करते थे. मुख्य खबरें