content-cover-image

जानें बड़ी बातें : इसरो ने लांच किए 8 देशों के 30 सैटेलाइट

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

जानें बड़ी बातें : इसरो ने लांच किए 8 देशों के 30 सैटेलाइट

namaskar doston.. इसरो ने brahspatvar ko भारत समेत 8 अन्य देशों के 30 सैटेलाइट लांच किए भारतीय. ye hamare desh ke liye atyant hi gaurav ka vishay hai. aaiye jaante hain iske baare mein kuch pramukh baatein. अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने गुरुवार को अपने विश्वसनीय रॉकेट पीएसएलवी-सी 43 को भारत के पृथ्वी अवलोकन उपग्रह हिसआईएस और आठ देशों के 30 अन्य उपग्रहों को लेकर रवाना किया. भारतीय उपग्रह सफलतापूर्वक कक्षा में स्थापित हो गया। इसरो ने कहा कि प्रक्षेपण के लिए 28 घंटे की उलटी गिनती बुधवार सुबह 5 बजकर 58 मिनट पर शुरू हुई थी. रॉकेट आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से गुरुवार सुबह 9 बजकर 58 मिनट पर रवाना हुआ। इसरो द्वारा विकसित भू प्रेक्षण उपग्रह (हिसआईएस) ka full form hai ‘हाइपर स्पेक्ट्रल इमेजिंग सैटेलाइट’ aur ye पीएसएलवी-सी 43 मिशन का प्रमुख उपग्रह है। अंतरिक्षयान का वजन करीब 380 किलोग्राम है और इसे 97.957 अंश झुकाव के साथ 636 किलोमीटर-पोलर सन सिंक्रोनस कक्षा में स्थापित किया गया। हिसआईएस की मिशन अवधि पांच साल की है इसका प्रमुख उद्देश्य पृथ्वी की सतह ke विद्युत चुंबकीय स्पेक्ट्रम के dikhai dene waale, near infrared और शॉर्टवेव infrared क्षेत्रों का अध्ययन करना है। हिसआईएस के साथ जिन उपग्रहों को रवाना किया गया है उनमें आठ देशों के 29 नैनो और एक माइक्रो उपग्रह शामिल हैं। इनमें 23 उपग्रह अमेरिका के और एक-एक उपग्रह ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, कोलंबिया, फिनलैंड, मलेशिया, नीदरलैंड और स्पेन के हैं। सभी उपग्रहों को पीएसएलवी-सी 43 द्वारा 504 किलोमीटर कक्षा में स्थापित किया जाना है। इन सभी उपग्रहों को इसरो की वाणिज्यिक शाखा एंट्रिक्स कॉर्पोरेशन लिमिटेड के माध्यम से प्रक्षेपित किया गया है। PSLV bharat ka third generation launch vehicle hai. पीएसएलवी-सी43 का भार 380 किग्रा है aur - 31 सैटेलाइटों का कुल भार 261.5 किग्रा है

Show more
content-cover-image
जानें बड़ी बातें : इसरो ने लांच किए 8 देशों के 30 सैटेलाइटमुख्य खबरें