content-cover-image

भारत को दूसरा इस्लामिक राष्ट्र बनाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए:मेघालय हाईकोर्ट

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

भारत को दूसरा इस्लामिक राष्ट्र बनाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए:मेघालय हाईकोर्ट

मेघालय हाईकोर्ट ने अपने एक फैसले में हिन्दुस्तान के इतिहास और विभाजन तथा उस दौरान सिखों, हिन्दुओं आदि पर हुए अत्याचारों का हवाला देते हुए कहा है कि पाकिस्तान ने स्वयं को इस्लामिक देश घोषित किया, जबकि भारत का बंटवारा धर्म के आधार पर हुआ था उसे भी हिन्दू राष्ट्र घोषित होना चाहिए था, लेकिन वह धर्मनिरपेक्ष बना रहा। कोर्ट ने यह भी कहा है कि किसी को भी भारत को दूसरा इस्लामिक राष्ट्र बनाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए, अन्यथा वह दिन भारत और दुनिया के लिए प्रलयकारी होगा। कोर्ट ने केन्द्र सरकार से अनुरोध किया है कि वह कानून बनाए जिसमें पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आने वाले हिन्दू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी, ईसाई, खासी, जैंता और गारो समुदाय को बिना किसी सवाल और दस्तावेज के भारत की नागरिकता दी जाए।

Show more
content-cover-image
भारत को दूसरा इस्लामिक राष्ट्र बनाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए:मेघालय हाईकोर्टमुख्य खबरें