content-cover-image

परिजनों का आरोप सरकार का कर्जमाफी पर धोखा

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

परिजनों का आरोप सरकार का कर्जमाफी पर धोखा

मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार की कर्जमाफी की योजना के बाद खंडवा जिले की पंधाना क्षेत्र के अस्तरिया गांव के 45 वर्षीय एक किसान ने कथित तौर पर पेड़ से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. उसका शव शनिवार सुबह 7 बजे उसी के खेत में एक पेड़ से लटकता मिला. किसान के परिजनों का आरोप है कि सरकार की हाल ही में जारी कर्ज माफी के आदेश के बाद भी वह उस दायरे में नहीं आ सका क्योंकि राज्य सरकार ने 31 मार्च 2018 तक का कर्जा माफ करने की घोषणा की है. मृत किसान पर इस तिथि के बाद का राष्ट्रीयकृत तथा सहकारी बैंकों का करीब तीन लाख रुपये का कर्ज था. वही पंधाना से भाजपा विधायक राम दांगोड़े ने किसान की मौत पर दुख जताते हुए कहा कि हम मृतक के परिवार की हर संभव मदद करेंगे। मैं कांग्रेस सरकार से अपील करता हूं, चुनाव के पहले किए कर्जमाफी के वादे को पूरा करते हुए सभी किसानों को इसमें शामिल किया जाए। सरकार बनने के बाद कांग्रेस ने वादाखिलाफी करते हुए केवल 31 मार्च 2018 तक के उन किसानों का कर्जा माफ किया है, जो अपना खाता नहीं पलटा पाए थे। ऐसे मात्र पांच फासदी किसान हैं, बाकि जिनका कर्ज माफ नहीं हुआ उनमें 95 फीसदी किसान शामिल हैं। सरकार यदि अपना वादा पूरा नहीं करती तो खंडवा से ही सरकार के खिलाफ आंदोलन की शुरुआत करूंगा।

Show more
content-cover-image
परिजनों का आरोप सरकार का कर्जमाफी पर धोखामुख्य खबरें