content-cover-image
भारत आने से पहले फ्रांस में होगा राफेल का ट्रायल

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

भारत आने से पहले फ्रांस में होगा राफेल का ट्रायल

France से अगले साल सितंबर में पहला Rafale plane हासिल करने के बाद फ्रांस और भारत इसका 1,500 घंटे तक गहन ट्रायल करेंगे. भारत ने इस खास किस्म के ट्रायल के लिए करार में 20 फीसदी से ज्यादा का भुगतान भी किया है. यह वही राफेल विमान सौदा है जिस पर राहुल गांधी और कांग्रेस लगातार केंद्र की मोदी सरकार पर हमला कर रही है. कांग्रेस 2015 में घोषित हुए इस सौदे की संयुक्त संसदीय समिति (की भी मांग कर रही है. भारतीय वायुसेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सितंबर, 2019 में हमें पहला एयरक्रॉफ्ट मिल जाएगा. यह फ्रांस में 1,500 घंटे की टेस्ट फ्लाइंग के बाद ही भारतीय वायुसेना में शामिल किया जाएगा. उन्होंने कहा कि राफेल विमान भारतीय धरती पर भारतीय वायुसेना में पहली बार मई, 2020 में तब शामिल हो पाएगा, जब अंबाला एयरफोर्स बेस पर 4 विमानों वाली पहली खपत यहां पहुंचेगी. अंबाला एयरफोर्स बेस पर इस खास विमान की तैनाती की जाएगी. बताते चले कि अगले 63 महीनों में फ्रांस 36 राफेल विमान भारत को देगा जिसकी शुरुआत अगले साल सितंबर से होगी. बाकी विमान पहली डिलीवरी के अगले 30 महीनों में देना है.

Show more
content-cover-image
भारत आने से पहले फ्रांस में होगा राफेल का ट्रायलमुख्य खबरें