content-cover-image

फर्जी स्टांप पेपर घोटाला

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

फर्जी स्टांप पेपर घोटाला

मौत के एक साल बाद 20 हजार करोड़ रुपये के स्टांप पेपर घोटाले में दोषी करार दिए गए अब्दुल करीम तेलगी को बरी कर दिया गया. महाराष्ट्र के इस बहुचर्चित घोटाले में आठ अन्य लोगों को भी बरी किया गया. नासिक की एक अदालत ने सबूतों के अभाव में सभी आरोपियों को बरी कर दिया. वहीं, मौत के बाद तेलगी के खिलाफ घोटाले के आरोप को हटा लिया गया है. फर्जी स्टांप पेपर घोटाले में उसे 30 वर्ष के सश्रम कारावास की सजा सुनाई गई थी और वह बेंगलुरु के पाराप्पाना अग्रहारा सेंट्रल जेल में सजा काट रहा था. उस पर 202 करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया गया था. तेलगी को नवंबर, 2001 में अजमेर से गिरफ्तार किया गया. उसे मधुमेह, उच्च रक्तचाप और एड्स समेत कई बीमारियां थीं. जिसकी वजह से 26 अक्तूबर को बेंगलुरु के एक अस्पताल में उसकी मौत हो गई. उनकी पत्नी ने अर्जी में दावा किया कि तेलगी की आखिरी इच्छा थी कि घोटाले के पैसों से बनाई गई उनकी सारी संपत्ति सरकार द्वारा इस्तेमाल की जाए. अर्जी की सुनवाई तीन फरवरी को हो सकती है.

Show more
content-cover-image
फर्जी स्टांप पेपर घोटालामुख्य खबरें