content-cover-image

सर्जिकल स्ट्राइक की कहानी पीएम मोदी की जुबानी

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

सर्जिकल स्ट्राइक की कहानी पीएम मोदी की जुबानी

साल बदलते ही 2019 की पहली तारीख को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मीडिया से मुखातिब हुए। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस द्वारा लंबे वक्त से सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर उठाए जाने वाले सवालों का जवाब बेबाकी से दिया। पीएम मोदी ने कहा, 'उरी में हुए आतंकी हमले में भारतीय सेना के कई जवानों को जिंदा जला दिया गया। इसकी वजह से मेरे साथ-साथ भारतीय सेना के जवान भी बहुत गुस्से में थे, जिसके बाद सर्जिकल स्ट्राइक की योजना बनाई गई। मै नहीं चाहता था कि ऑपरेशन के दौरान कोई भी सैनिक शहीद हो, इसके लिए साफ तौर पर मैंने निर्देश दिया, यदि वह असफल भी होते हैं तो वे सूर्योदय से पहले वापस लौट आएं। कमांडोज की सुरक्षा को देखते हुए दो बार हमले की योजना की तारीखों को बदला गया| फिर इंडियन आर्मी स्पेशल फोर्स के कमांडोज ने 28 सितंबर 2016 को लाइन ऑफ कंट्रोल पार कर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में दाखिल हुए और आतंकी ठिकानों पर सर्जिकल स्ट्राइक की। मुझे पॉलिटिकल रिस्क की चिंता नहीं, मुझे सैनिकों की सुरक्षा की फिक्र थी| इस खतरनाक ऑपरेशन पर मैंने रात भर नजर रखी और पल-पल की जानकारी हासिल करता रहा। इस ऑपरेशन के लिए कमांडोज के चुनाव में सतर्कता बरतने के साथ ही उनकी स्पेशल ट्रेनिंग समेत उन्हें जिन हथियारों की जरूरत थी आदि का इंतजाम किया। मै चिंतित था कि एलओसी के उस पार मेरे सैनिक थे और तब हालत ज्यादा चिंताजनक हो गई जब सुबह के वक्त एक घंटे के लिए जानकारियों का आदान-प्रदान रुक गया।' वह मेरे लिए बहुत मुश्किल वक्त था| तभी खबर मिली की वे अभी वापस नहीं लौटे हैं लेकिन दो-तीन यूनिट्स सुरक्षित जगहों पर पहुंच गई थीं तो घबराने की जरूरत नहीं है। लेकिन मैंने कहा जब तक आखिरी सैनिक तक वापस नहीं आ जाता है तब तक सबकुछ ठीक नहीं है।' उन्होंने बताया कि हमारे जवानों का हौसला बरकरार रखने के लिए पाकिस्तान के साथ इस अंदाज में बातचीत जरूरी थी। तो श्रोतावों सर्जिकल स्ट्राइक के बाद आज भी एलओसी के पार कश्मीर में हमले जारी हैं| अगर आप देश के pm होते तो इन हमलों को रोकने के लिए क्या कदम उठाते? अपने जवाब हमें कमेन्ट box में लिख कर या रिकॉर्ड कर जरुर बताएं| धन्यवाद

Show more
content-cover-image
सर्जिकल स्ट्राइक की कहानी पीएम मोदी की जुबानीमुख्य खबरें