content-cover-image

तिहाड़ जेलः बंदियों के हुनर को रोजगार में बदला

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

तिहाड़ जेलः बंदियों के हुनर को रोजगार में बदला

एशिया की सबसे बड़ी जेल यानी तिहाड़ में बंद कैदियों को आत्मनिर्भर बनाने और उनके हुनर को रोजगार में बदलने के मकसद से विशेष प्रशिक्षण की व्यवस्था की गई है. जिसके तहत कैदियों को अलग-अलग तरह के कई काम सिखाए जा रहे हैं. यही नहीं तिहाड़ में फैशन लैब, फैब्रिक, वुड कार्विंग, आर्ट गैलरी, बेकरी, जूट से बने उत्पाद का कार्य बड़े स्तर पर किया जा रहा है. साथ ही उन्हें शिक्षित भी किया जा रहा है. जेल महानिदेशक अजय कश्यप ने जब से तिहाड़ जेल की कमान संभाली, तभी से उनका लक्ष्य ज्यादा से ज्यादा बंदियों के हुनर को रोजगार में बदलना रहा. उनकी कोशिशों के चलते ही तिहाड़ जेल में आज इस तरह के 64 प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं, जिनसे बंदियों को उनका हुनर निखारने के साथ ही रोजगार भी मिल रहा है. जेल प्रशासन ने बैंक में वहां काम करने वाले कैदियों के खाते खुलवाए हैं. जहां हर माह उनके काम का पैसा पहुंच जाता है.

Show more
content-cover-image
तिहाड़ जेलः बंदियों के हुनर को रोजगार में बदलामुख्य खबरें