content-cover-image

देश की सबसे साफ नदी, जहां बोट शीशे पर तैरती दिखती है

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

देश की सबसे साफ नदी, जहां बोट शीशे पर तैरती दिखती है

मेघालय की उमनगोत नदी को देश की सबसे साफ नदी का रुतबा हासिल है। पानी इतना साफ है कि नावें कांच पर तैरती सी नजर आती हैं। यह शिलांग से 85 किमी दूर भारत-बांग्लादेश सीमा के पास पूर्वी जयंतिया हिल्स जिले के दावकी कस्बे के बीच से बहती है। लोग इसे पहाड़ियों में छिपा स्वर्ग भी कहते हैं। इस सफाई की वजह यहां रहने वाले खासी आदिवासी समुदायों की पुरखों से चली आ रही परंपराएं हैं। सफाई इनके संस्कारों में है। दरअसल उमनगोत तीन गांवों में से बहती है- दावकी, दारंग और शेंनान्गडेंग। इन्हीं गांवों के लोगों के जिम्मे इसकी सफाई है। मौसम और पर्यटकों की संख्या के हिसाब से महीने में एक, दो या चार दिन कम्युनिटी डे के होते हैं। इस दिन गांव के हर घर से कम से कम एक व्यक्ति नदी की सफाई के लिए आता है। गांव में करीब 300 घर हैं और सभी मिलकर सफाई करते हैं। वही गंदगी फैलाने पर 5000 रु. तक जुर्माना वसूला जाता है। उमनगोत के पास के गांव मावलिननॉन्ग को एशिया के सबसे साफ गांव का दर्जा हासिल है। श्रोतावो बताइए हम अपने आस-पास की नदियों या नहरों को व्यक्तिगत तौर पर साफ रखने में कीस प्रकार अपना योगदान दे सकते है? अपना जवाब, सुझाव या विचार हमें कमेन्ट बॉक्स में लिख कर या रिकॉर्ड कर जरुर दे|

Show more
content-cover-image
देश की सबसे साफ नदी, जहां बोट शीशे पर तैरती दिखती हैमुख्य खबरें