content-cover-image

WhatsApp छोड़ लोग क्यों अपना रहे टेलीग्राम?

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

WhatsApp छोड़ लोग क्यों अपना रहे टेलीग्राम?

चुनाव नजदीक है और सियासी पार्टियों के 'हथियारों' में ब्रह्मास्त्र के तौर पर सोशल मीडिया शामिल है. ऐसे में पिछले कुछ महीनों से Telegram मैसेंजर एप्लीकेशन पर नेताओं, कार्यकर्ताओं, बिजनेसमैन, ब्यूरोक्रेट्स, मीडिया पर्सन और आम लोग तेजी से आ रहे हैं. WhatsApp का तोड़ कहे जाने वाले इस एप्लीकेशन में डेटा प्राइवेसी, ग्रुप में ज्यादा मेंबर समेत कई ऐसी खूबियां हैं, जो इसे किसी दूसरे प्लेटफॉर्म से बेहतर बना रहे हैं. उन लोगों के लिए ये बेहद खास है, जो किसी भी हालत में डेटा प्राइवेसी से समझौता नहीं करना चाहते. साथ ही जिन्हें सोशल मीडिया प्रचार का सबसे बड़ा माध्‍यम लगता है, उन्होंने टेलीग्राम अपना लिया है. ऐसा इसलिए, क्योंकि WhatsApp के बार-बार डेटा प्राइवेसी में सेंध की बात खारिज करने के बावजूद भी लोग उस पर खास भरोसा नहीं जता पा रहे हैं. रूस के पॉपुलर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को बनाने वाले Pavel Durov को वहां का मार्क जकरबर्ग भी कहा जाता है. साल 2013 में Pavel Durov ने Nikolai Durov के साथ मिलकर टेलीग्राम बनाया.

Show more
content-cover-image
WhatsApp छोड़ लोग क्यों अपना रहे टेलीग्राम?मुख्य खबरें