content-cover-image

जैश-ए-मोहम्मद का कच्चा चिट्ठा..

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

जैश-ए-मोहम्मद का कच्चा चिट्ठा..

जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर बड़ा आतंकी हमला हुआ है. आतंकियों ने CRPF के काफिले पर IED ब्लास्ट किया. हादसे में सीआरपीएफ के कम से कम 40 जवान शहीद हुए हैं . हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है. 13 दिसंबर, 2001 में संसद भवन पर हुए आतंकी हमले को इसी आतंकी संगठन ने अंजाम दिया था. मसूद अजहर वही आतंकी है, जिसे इंडियन एयरलाइंस की फ्लाइट को हाइजैक करके साल 1999 में आतंकियों ने छुड़ाया था. ये आतंकी संगठन अधिकतर आत्मघाती हमलों को अंजाम देता है. इस बार का हमला भी आत्मघाती हमला है. 31 जनवरी, 2000 में आतंकी मौलाना मसूद अजहर ने इस संगठन को पाकिस्तान के कराची में बनाया था. ये भी कहा जाता है कि पाकिस्तानी की खुफिया एजेंसी ने ISI ने इस संगठन की खूब मदद की. साल 2003 में खबर आई जैश-ए-मोहम्मद के बंटवारे की, जो कथित तौर पर खुद्दाम-उल-इस्लाम और जमात-उल-फुरकान में बंट गया. साल 2003 में ही जमात-उल-फुरकान के चीफ अब्दुल जब्बार ने पाकिस्तान के राष्‍ट्रपति परवेज मुर्शरफ की हत्या की कोशिश की, जिसमें वह गिरफ्तार हो गया. इसके बाद पाकिस्तान ने नवंबर 2003 में दोनों संगठनों, खुद्दाम-उल-इस्लाम और जमात-उल-फुरकान को बैन कर दिया.

Show more
content-cover-image
जैश-ए-मोहम्मद का कच्चा चिट्ठा..मुख्य खबरें