content-cover-image

अखिलेश भविष्य की राजनीति पर करना चाहते हैं फैसला,राज़ी नहीं मायावती

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

अखिलेश भविष्य की राजनीति पर करना चाहते हैं फैसला,राज़ी नहीं मायावती

सूत्रों के अनुसार सपा प्रमुख अखिलेश यादव भविष्य की राजनीति के मद्देनजर बसपा के साथ हुए राज्य के 80 लोकसभा सीटों में से 38 पर सपा व 38 पर बसपा के लड़ने, अमेठी और रायबरेली की 2 सीट कांग्रेस के लिए छोड़ने के समझौते में कुछ फेरबदल करना चाहते हैं। वह चाहते हैं सपा और बसपा अपने-अपने खाते से 6-6 सीटें कम करके 12 सीटें कांग्रेस को दे। इस तरह कांग्रेस को कुल चौदह सीटें मिल जाएगी और यह 12 सीट देने से सपा-बसपा-कांग्रेस-रालोद गठबंधन राज्य में इतना मजबूत हो जाएगा कि लोकसभा चुनाव में राज्य में भाजपा को 5 से 7 सीट पर समेट देगा। उसके दो साल बाद होने वाले विधानसभा चुनाव में भी सत्ताधारी पार्टी का सफाया हो जाएगा। सपा के एक नेता का कहना है कि बसपा सुप्रीमो मायावती इसके लिए राजी नहीं हैं। उनका मानना है कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस का मजबूत होना मतलब बसपा का नुकसान होना, इसीलिए माया इस फेरबदल के पक्ष में नहीं हैं।

Show more
content-cover-image
अखिलेश भविष्य की राजनीति पर करना चाहते हैं फैसला,राज़ी नहीं मायावती मुख्य खबरें