content-cover-image

मोदी ने नहीं पहले मनमोहन ने तोडा था प्रोटोकॉल सऊदी किंग के लिए

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

मोदी ने नहीं पहले मनमोहन ने तोडा था प्रोटोकॉल सऊदी किंग के लिए

भारतीय जनता पार्टी के आलोचक और मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस के नेता पीएम मोदी द्वारा मोहम्मद बिन सलमान के इस 'गर्मजोशी भरे' स्वागत पर सवाल उठा रहे हैं.फ़ेसबुक और ट्विटर पर मंगलवार रात से हज़ारों ऐसी पोस्ट की जा चुकी हैं जिनमें पीएम मोदी की वायरल तस्वीर के साथ लिखा है कि "उन्होंने क्राउन प्रिंस का स्वागत करने के लिए सरकारी प्रोटोकॉल को तोड़ा." कांग्रेस पार्टी के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट और कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी इसी लाइन पर ट्वीट किये हैं. कुछ लोगों ने सोशल मीडिया पर विपक्षी पार्टी के इन ट्वीट्स को आधार बनाते हुए लिखा है कि 'सरकारी प्रोटोकॉल तोड़कर विदेशी मेहमानों को ख़ुद लेने पहुँचना, ऐसा करने वाले पहले पीएम बने नरेंद्र मोदी.' लेकिन ये दावा सही नहीं है क्योंकि साल 2004 से लेकर 2014 के बीच कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार में प्रधानमंत्री रहे मनमोहन सिंह पाँच बार ऐसा कर चुके हैं. सबसे पहली बार तत्कालीन पीएम मनमोहन सिंह ने ये 'सरकारी प्रोटोकॉल' साल 2006 में सऊदी अरब के किंग और क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के पिता सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ के लिए ही तोड़ा था. साल 2006 में ही मनमोहन सिंह ने दूसरी बार ये 'प्रोटोकॉल तोड़ा' और अमरीका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज बुश के स्वागत के लिए ख़ुद एयरपोर्ट पहुंचे थे.साल 2006 में नेपाल के प्रधानमंत्री सुशील कोइराला और साल 2013 में जापान के सम्राट अकीहितो के स्वागत के समय भी मनमोहन सिंह ने कथित प्रोटोकॉल को दरकिनार कर दिया था और इन मेहमानों को लेने एयरपोर्ट पहुंचे थे. पाँचवां मौक़ा साल 2010 का है जब पूर्व अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के स्वागत के लिए भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह अपनी पत्नी गुरशरण कौर के साथ दिल्ली एयरपोर्ट पहुँचे थे.

Show more
content-cover-image
मोदी ने नहीं पहले मनमोहन ने तोडा था प्रोटोकॉल सऊदी किंग के लिए मुख्य खबरें