content-cover-image

आती है ज़्यादा नींद,तो आप भी हो सकते हैं शिकार..

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

आती है ज़्यादा नींद,तो आप भी हो सकते हैं शिकार..

दुनियाभर में करीब तिहाई जनसंख्या अनिद्रा की शिकार है। पर, ऐसे भी लोग हैं, जिन्हें हर समय नींद आती रहती है और किसी काम में मन नहीं लगता। अगर आपके साथ ऐसा है तो यह हाइपरसोम्निया हो सकता है! हाइपरसोम्निया एक स्लीप डिसॉर्डर है, जिसमें रात में बहुत नींद आती है और सुबह उठने में भी परेशानी होती है। इससे पीड़ित लोगों को सारा दिन नींद आती रहती है, चाहे काम कर रहे हों या बात कर रहे हों। दिक्कत तब होती है कि जब दिन में 1-2 बार झपकी लेने के बाद भी तरोताजा महसूस नहीं करते। यह जीवन के लिए घातक स्थिति नहीं है, लेकिन इससे जीवन की गुणवत्ता प्रभावित होती है और कई रोगों का खतरा बढ़ जाता है। हाइपरसोम्निया का सबसे प्रमुख लक्षण है लगातार थकान बनी रहना। अधिक नींद लेने के बाद भी सुबह उठने में परेशानी होना। इसके अलावा ऊर्जा की कमी, चिड़चिड़ापन, एंग्जाइटी, भूख न लगना, सोचने और बोलने में परेशानी होना, बेचैनी व चीजों को याद न रख पाना आदि लक्षण देखने को मिलते हैं। इस डिसऑर्डर से बचने के लिए नियत समय पर सोएं। आठ घंटे से अधिक न सोएं। नियमित व्यायाम करें। एल्कोहल व कैफीन का सेवन कम करें। पौष्टिक खाना खाएं। योग और ध्यान करें। और गैजेट्स का इस्तेमाल कम करें।

Show more
content-cover-image
आती है ज़्यादा नींद,तो आप भी हो सकते हैं शिकार..मुख्य खबरें