content-cover-image

किसी भी नियामक से बड़ा है देश

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

किसी भी नियामक से बड़ा है देश

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआइ) से सरकार की विभिन्न मांगों का बचाव करते हुए कहा कि देश संस्थानों से अधिक महत्वपूर्ण है। ग्लोबल बिजनेस समिट में उन्होंने यह भी अपील की अगले आम चुनाव में सरकार को स्पष्ट बहुमत मिलनी चाहिए, ताकि अर्थव्यवस्था को स्थिरता मिले और छह महीने में ही सरकार न बदलनी पड़े। उन्होंने कहा कि देश ने वित्तीय अनुशासन का लाभ देख लिया है। नीति निर्माताओं को ठोस नीति और लोकलुभावन नीति में से चुनाव करना होगा। उन्होंने कहा कि किसी भी हालत में इस समय भारत को राजनीतिक अस्थिरता नहीं चाहिए।

Show more
content-cover-image
किसी भी नियामक से बड़ा है देशमुख्य खबरें