content-cover-image

मोदी सरकार:साढ़े चार साल में की 3 सर्जिकल स्ट्राइक

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

मोदी सरकार:साढ़े चार साल में की 3 सर्जिकल स्ट्राइक

पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में जो किया, 12 दिनों के बाद भारतीय वासुसेना के जवानों ने उसका मुंहतोड़ जवाब सर्जिकल स्‍ट्राइक के जरिए दिया. भारत ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए पीओके में घुसकर जैश-ए-मोहम्मद के करीब 12 ठिकानों को तबाह कर 200 से 300 आतंकियों को मार गिराया| पुलवामा में हुए सबसे बड़े आतंकी हमले ने पूरे देश को झकझोर दिया. हमले के बाद PM ने दो टूक कहा था कि हमारे जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी और इस हमले का जवाब दिया जाएगा. मोदी सरकार के पांच साल का कार्यकाल पूरा होने में अभी कुछ महीने बाकी हैं.इतने कम समय में यह सरकार आतंकियों की सबसे बड़ी दुश्मन है| इसने अपने साढ़े चार साल में 3 सर्जिकल स्ट्राइक किये| तो चलिए जानते है मोदी सरकार द्वारा किये गए उन ३ सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में- की ये कब और क्यों किये गए थे? तो भारत में मोदी सरकार बनने के बाद जवानों ने पहली बार 9 जून 2015 में म्‍यांमार की सीमा से लगते इलाके चंदेल में सर्जिकल स्‍ट्राइक की थी. इससे पहले 4 जून एनएससीएन-के के उग्रवादियों ने मणिपुर में सेना के काफिले पर हमला कर 18 जवानों की हत्‍या कर दी थी. इसका जवाब देने के लिए भारतीय सेना ने यह सर्जिकल स्‍ट्राइक की थी. इसके बाद 18 सितंबर 2016 को आतंकियों ने उरी में सेना के कैंप पर बड़ा हमला किया था. इस हमले में हमारे 19 जवान शहीद हुए थे. हमले के 10 दिन बाद ही 28-29 सितंबर की रात को पीओके में घुसकर भारतीय सेना ने आतंकियों के कैंपों को उड़ा दिया था. और यह सेना द्वारा किया गया दूसरा सर्जिकल स्ट्राइक था. इसके बाद तीसरा सर्जिकल स्ट्राइक आज वायुसेना द्वारा किया गया है| यह सर्जिकल स्ट्राइक १४ feb को पुलवामा हमले में ४४ जवानो के शहीद होने के ठीक १२ दिन बाद किया गया| इसमें pok में स्थित जैश-ए-मोहम्मद के करीब 12 ठिकानों को तबाह कर 200 से 300 आतंकियों को मारा गया है|

Show more
content-cover-image
मोदी सरकार:साढ़े चार साल में की 3 सर्जिकल स्ट्राइकमुख्य खबरें