content-cover-image

Special: परमाणु हमले का संकेत होते ही तुरंत करें ये काम

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Special: परमाणु हमले का संकेत होते ही तुरंत करें ये काम

हम सभी को पता है कि दुनिया के कुछ देशों को छोड़ बाकी सभी शक्तिशाली देश परमाणु संपन्न देश है। सभी जानते हैं कि परमाणु बम का खतरा कितना बड़ा है फिर भी हम यह नहीं कह सकते कि परमाणु बम का उपयोग कभी कोई देश नहीं करेगा। आज भारत और पाक के बिच जो तनाव उत्पन्न हुवा है| उसे देखते हुवे अगर दोनों देशों के बिच युद्ध छिड़ता है तो उसमे आश्चर्य नहीं hoga| क्योंकि परिस्थितिया ही ऐसी बन गई है| अगर युद्ध हुवा और जरूरत पड़ी तो dono desh parmanu sampann hain. angrezi ki ek kahawat hai All is fair in love and war.. aur jab mati bhrashth hoti hai, log dimaag se zyada gusse se sochte hain, to sochne samajhne ki shakti to pair ki ungliyon mein pahunch jati hai shayad. bharat aur pakistan dono hi parmanu kshamta rakhte hain. parmanu attack ki possibility bahut kseen hai par zero nahi hai. ऐसे में हम आपको यहाँ परमाणु बम से बचने की कुछ जानकारिय बता रहे है जो परमाणु हमले के दौरान आपके लिए जीवनदायी साबित होगी। ham aapko darana nahi chahte lekin museebat ke samay agar us museebat se nipatne ki kshamta hamare paas ho to shayad behtar hi hota hai. वैसे तो जहाँ परमाणु बम गिरता है वहां के लोगो का बचना असंभव है लेकिन अगर आप परमाणु केंद्र से 5 किलोमीटर दूरी पर है तो आप बच सकते है| tab bum girne par आपको एक धमाका सुनाई देगा जो थोड़ा धीरे रहेगा। इसके बाद आपको 15 सेकंड बाद एक दूसरा धमाका सुनाई देगा जो पहले धमाके के मुकाबले 100 गुना अधिक होगा और इस धमाके से ho sakta hai ki आपके कान के पर्दे फट jayein लेकिन इन 15 सेकंड के अंदर आपको किसी बेसमेंट में जाकर उल्टा लेट कर अपने kaan को बंद कर लेना है। यदि आप इन दो धमाकों से बच गए हैं तो आपके ऊपर अब रेडिएशन का खतरा मंडराने लगेगा इसलिए आप अपने सभी कपड़ों को बदल दे और अंदर रखे नए कपड़े पहने और तब तक बाहर ना निकले जब तक कि कोई बचाव दल आपके पास ना आ जाए। .परमाणु बम हमेशा सैन्य प्रतिष्ठानों और घनी आबादी वाले क्षेत्रों में ही गिराए जाते है| क्योंकि दुश्मन देश हमेशा ऐसे स्थान को टारगेट करता है जहां पर ज्यादा जान माल का नुकसान हो। इसलिए यदि आप ऐसी जगहों में रहते हैं तो इन्हें छोड़कर किसी गांव या आउट एरिया में चले जाएं जहां पर आबादी कम है| .अगर आपके आस पास कही परमाणु बम का हमला हो तो उसके केंद्र को कभी भी अपनी आँखों से नहीं देखना चाहिए क्योंकि इससे आपकी आँखे हमेशा के लिए खराब हो सकती है. .अगर परमाणु हमला हो जाये तो तुरंत किसी मजबूत बिल्डिंग के बेसमेंट में शरण लेना चाहिए. या फिर किसी मेट्रो स्टेशन में क्योंकि मेट्रो स्टेशन जमीन से काफी अंदर बने होते हैं और यह काफी मजबूत होते हैं जिन पर परमाणु बम का असर बहुत कम पड़ता है। परमाणु हमले के बाद आप कोशिश करें कि ज्यादा से ज्यादा वक्त सो कर बिताएं। पानी भरपूर पिए और कुछ मोटे कपड़े भी पहनने के लिए रख ले क्योंकि परमाणु हमले के बाद मौसम ठंडा हो जाता है .हमले की स्थिति में अगर किसी के पास रेडियो है तो उसे अपने साथ रखना चाहिए क्योंकि हमले से सब कुछ ख़त्म हो जाता है लेकिन जो राहत कार्य की पहली खबर मिलती है वो पहले रेडियो में ही मिलती है. .हमले होने के बाद अगर आप किसी सुरक्षित जगह में पहुँच गए है तो जब तक राहत कार्य की कोई खबर न मिले तब तक सुरक्षित जगह से बिलकुल भी न निकले क्योंकि हमला होने के बाद आस पास रेडिएशन फ़ैल जाता है जो किसी की भी जान ले सकता है. .अगर किसी पर रेडिएशन का असर हो गया है तो उस पर लगातार खून की उल्टी होना, मितली आना, चक्कर आना, डायरिया ना रूकना, सर दर्द या बुखार होना, कमजोरी बने रहना, बाल उड़ जाना जैसे लक्षण दिखाई देंगे. यह रही आज के कुछ जरूरी जानकारी जो हर इंसान को पता होनी चाहिए क्योंकि हमें कब कैसा माहौल देखने को मिल जाए यह हम नहीं जानते इसलिए जरूरी है कि हम पहले से ही सचेत रहें।

Show more
content-cover-image
Special: परमाणु हमले का संकेत होते ही तुरंत करें ये काममुख्य खबरें