content-cover-image

क्या IOC का निर्णय गलत है?

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

क्या IOC का निर्णय गलत है?

भारत के स्टार पहलवान बजरंग पूनिया ने ३ मार्च को बुल्गारिया में डान कोलोव-निकोला पेत्रोव टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक अपने नाम किया और इस जीत को भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को सर्मिपत किया। उन्होंने पिछले साल राष्ट्रमंडल खेलों और एशियाई खेलों में भी स्वर्ण पदक जीता था। वह पिछले पांच टूर्नामेंट में चार स्वर्ण और एक रजत पदक जित चुके है। यह पूनिया का दसवां पदक है जो उन्होंने इतने ही अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में हासिल किए है। यहाँ आपको ये भी बता दे कि पुलवामा हमले के बाद भारत ने शूटिंग विश्व कप के दौरान पाकिस्तानी निशानेबाजों को वीजा देने से इनकार कर दिया था इस वजह से कुश्ती की वैश्विक संस्था यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग यानी UWW ने इससे संबद्ध सभी राष्ट्र संघों से रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के साथ संबंध और संवाद निलंबित करने को कहा है। इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक समिति ने भारत में वैश्विक आयोजनों की मेजबानी पर भी रोक लगा दी है| तो श्रोताववों बताइये क्या यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग और अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक समिति द्वारा उठाया गया यह कदम सही है? इस कदम से भारतीय खिलाड़ियों पे क्या असर होगा? आप अपने जवाब हमें लिख कर या रिकॉर्ड कर कमेन्ट बॉक्स में जरुर दे| धन्यवाद |

Show more
content-cover-image
क्या IOC का निर्णय गलत है?मुख्य खबरें